बाबरी विध्वंस मामले में जल्द आ सकता है कोर्ट का फैसला

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट अयोध्या मामले को लेकर जल्द अपना फैसला सुना सकती है। केंद्र और राज्य में बीजेपी की सरकार आने के बाद इस तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। इस बारे में सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह राम मंदिर-बाबरी मजिस्द भूमि विवाद मामले में दोनों पक्षों की याचिकाओं समेत सभी याचिकाओं की जल्द सुनवाई की जाएगी। साथ ही इस पर निर्णय भी लिया जाएगा।

बता दें कि वर्ष 2010 से अयोध्या विवाद सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। साल 2010 में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुनाया था, जिसके बाद ये मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा था। वही बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में जल्द सुनवाई की अर्जी दे रखी है। जिस पर सुप्रीम कोर्ट का कहना था कि उसके पास जल्द सुनवाई का समय नहीं है।

गौरतलब है कि साल 2010 ने इलाहाबाद हाईकोर्ट का इस मसले पर इलाहाबाद हाईकोर्ट का फैसला आया था। जिसमें  कोर्ट ने बीच का रास्ता निकाला था। लेकिन उस फैसले के बाद भी स्थिति अभी 7 साल पहले वाली ही बनी हुई है।  इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विवादित 2.77 एकड़ भूमि को तीन बराबर हिस्सों में बांटने का फैसला सुनाया था, राम मूर्ति वाला हिस्सा रामलला विराजमान को, राम चबूतरा और सीता रसोई का हिस्सा निर्मोही अखाड़ा को और तीसरा हिस्सा सुन्नी वक्फ बोर्ड को देने का आदेश दिया था।