सपा नेता आजम खान का बयान, बोले- ‘खाकी नेकर की तरह नाथूराम गोडसे भी RSS की पहचान’

रामपुर । कमल हासन के नाथूराम गोडसे को पहला हिंदू उग्रवादी कहने पर हो रही बयानबाजी और बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर को देशभक्त कहने पर पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां ने कहा है कि उनका नाम कमल हसन नहीं है कमल हासन है और वह मुसलमान नहीं हैं। आजम ने कहा कि कमल हासन ने कहा है कि नाथूराम गोडसे बापू के हत्यारे हैं और पहले आतंकवादी हैं यह उनका विचार है। लेकिन प्रज्ञा ठाकुर ने कहा है नाथूराम गोडसे राष्ट्रभक्त थे हैं और रहेंगे।

आजम खां ने शुक्रवार को कहा कि एक ऐसे व्यक्ति को कहा है जो राष्ट्रपिता का हत्यारा है 302 का मुल्जिम है और फांसी चढ़ाया गया था। ऐसे व्यक्ति को देशभक्त कहना क्योंकि नाथूराम गोडसे आरएसएस की पहचान है ठीक उसी तरह जिस तरह खाकी नेकर पहचान है। आजम खां ने कहा कि आरएसएस वालों को बुरा नहीं मानना चाहिए था खाकी नेकर उनका सिंबल है। सिर्फ भारतीय जनता पार्टी का यह कह कर पल्ला झाड़ लेना कि हमारा उस बयान से कोई लेना देना नहीं है और वो इसकी निन्दा करें काफी नहीं है।

सातवें चरण का आखरी चुनाव बाकी है ताबूत की आखरी कील बाकी है, देशवासी तय करें देश नाथूराम गोडसे से पहचाना जाएगा या बापू से। खाकी नेकर से पहचाना जाएगा या इंसानियत से। मेरी किस बात का बुरा लगा था खाकी नेकर सिंबल है। आरएसएस की विचारधारा का मैंने उस विचारधारा का जिक्र किया था। ठीक उसी तरह जिस तरह प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे के बारे में कहा है। हम और देश मे जो अमन चाहते हैं जो हत्याओं और हत्यारों को वाजिब नहीं ठहराना चाहते वो इस बात की उम्मीद करते हैं प्रज्ञा ठाकुर को भारतीय जनता पार्टी से बाहर निकालेगी और माफी मांगेगी राष्ट्र से कि उन्होंने एक ऐसी महिला को टिकट दिया जो बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे की समर्थक है, वो आरएसएस जिस पर बापू की हत्या के बाद बैन लगाया गया था। भाजपा बाहर निकाले। जनता यह तय करे देश किस रास्ते पर जा रहा है।

पश्चिम बंगाल में भाजपा और टीएमसी के विवाद और चुनाव आयोग के आदेश पर आजम खां ने कहा कि कोई विवाद नहीं सब कुछ सामने आ गया है सारे वीडियो हैं किसने दरवाजे तोड़े, शीशे तोड़े किसने प्रतिमा तोड़ी है एक तरफा हमला था कुछ भी विवादित नहीं है। यह भी विवादित नहीं है इलेक्शन कमीशन ने जो निर्णय लिया वो निष्पक्ष नहीं था।