दिल्ली : ऑटो में अपहरण कर नर्स से बलात्कार का प्रयास, पीड़िता ने चलते ऑटो से लगाई छलांग

नई दिल्ली । हैदराबाद में महिला डॉक्टर की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या से देशभर में आक्रोश है। संसद से लेकर सड़क तक महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई जा रही है। इस बीच, मंगलवार रात दिल्ली में शर्मनाक घटना सामने आई है। प्रसाद नगर में ऑटो सवार बदमाशों ने एक नामी अस्पताल की नर्स का अपहरण कर लिया और उससे दुष्कर्म की कोशिश की। बदमाशों से बचने के लिए पीड़िता ने चलते ऑटो से छलांग लगा दी, जिससे वह घायल हो गई। पीड़िता की शिकायत पर मुखर्जी नगर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है।

पुलिस के अनुसार, 20 साल की पीड़िता परिवार सहित गोकलपुरी में रहती है। वह राजधानी के एक बड़े अस्पताल में नर्स है। मंगलवार रात करीब दस बजे वह अस्पताल से घर के लिए निकली। पीड़िता का भाई उसे लेने कश्मीरी गेट बस अड्डे पर आने वाला था, इसलिए युवती ने अस्पताल के गेट के बाहर से ऑटो लिया, जिसमें चालक सहित तीन लोग सवार थे, मगर इन लोगों ने पीड़िता को अगवा कर लिया। डेढ़ घंटे तक सड़कों पर घुमाते रहे : बदमाश रानी झांसी फ्लाईओवर से कश्मीरी गेट बस अड्डे होते हुए पीड़िता को रिंग रोड पर घुमाते रहे। इस दौरान उन्होंने पीड़िता का मोबाइल और दो हजार रुपये भी छीन लिए। रिंग रोड से गोपालपुर होते हुए बदमाश कोरोनेशन पार्क की तरफ मुड़ गए। 11:30 बजे पार्क के पास पीड़िता जान बचाने के लिए ऑटो से कूद गई, जिससे उसे चोटें भी आईं।

कुछ दूरी पर उसे मुखर्जी नगर पुलिस की पिकेट दिखाई दी, जहां पर मौजूद पुलिसकर्मियों से उसने सारी बात बताई। मामला प्रसाद नगर इलाके का था, लेकिन मुखर्जी नगर पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर छेड़छाड़, अपहरण, लूट एवं अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली। साथ ही पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया। मुखर्जी नगर पुलिस कॉल डिटेल और इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के सहारे बदमाशों की पहचान करने का प्रयास कर रही है। इसके लिए आधा दर्जन टीम गठित की गई हैं। कालकाजी में एक डॉक्टर ने इलाज के बहाने क्लीनिक में बुलाकर नाबालिग से छेड़छाड़ की। नाबालिग ने परिजनों को डॉक्टर की हरकत के बारे में जानकारी दी, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पुलिस उपायुक्त चिन्मय बिश्वाल के अनुसार, कालकाजी में डेंटल सोल्यूशन नाम से डॉ. हिन्द पॉल भाटिया अपना क्लीनिक चलाते है। शिकायतकर्ता 26 नवंबर को बेटी के दांत में दर्द होने पर उसे क्लीनिक ले गए थे। वहां आरोपी डॉक्टर ने उपचार के दौरान उनकी 15 वर्षीय बेटी के साथ छेड़छाड़ की, लेकिन उनकी बेटी ने उन्हें कुछ नहीं बताया। 28 नवंबर को वह दोबारा इलाज के लिए डॉक्टर के क्लीनिक पहुंचे, जहां फिर से डॉक्टर ने बच्ची को उपचार के दौरान गलत तरीके से छुआ और उसके साथ छेड़छाड़ की।