अतंकवादियो का पनाहगार बने पाक को ट्रंप ने लगायी फटकार

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश को संबोधित करते हुए कहा अगर हमारे बीच आपसी शांति नहीं है तो हम दुनिया में शांति कायम रखने वाली ताकत नहीं बने रह सकते। अफगानिस्तान का जिक्र करते हुए ट्रंप ने कहा कि जल्दबाजी में अफगानिस्तान से हटने पर वहां शून्य की स्थिति पैदा हो जाएगी, जिससे (आईएसआईएस और अल कायदा सहित) बाकी आतंकवादी संगठन फायदा उठाने की सोच सकते हैं। ट्रंप ने पाकिस्तान का भी जिक्र किया। ट्रंप ने कहा कि पाकिस्तान अक्सर अराजकता, हिंसा और आतंकवाद के एजेंटों को सुरक्षित पनाह देता है। भारत-पाकिस्तान के रिश्तों का जिक्र करते हुए ट्रंप ने कहा खतरा और भी बढ़ गया है क्योंकि भारत और पाकिस्तान दोनों ही परमाणु संपन्न देश हैं जिनके बीच तनावपूर्ण संबंधों के संघर्षों में बदलने का खतरा है।

आतंकवादियों को पनाह देने के लिए ट्रंप ने पाकिस्तान को फटकार भी लगाई। ट्रंप ने कहा हम लोग जिन आतंकवादियों से लड़ रहे हैं पाकिस्तान उनको ही पनाह दे रहा है जबकि अमेरिक उसको बिलियन डॉलर की मदद भी दे रहा है। ट्रंप ने कहा कि पाकिस्तान ने अगर यह सब जारी रखा तो अमेरिका शांत नहीं बैठेगा। अफगानिस्तान का जिक्र करते हुए ट्रंप ने कहा वहां हमारी नई रणनीति का अहम स्तंभ समय आधारित दृष्टिकोण को बदलकर परिस्थितियों पर आधारित नजरिया अपनाना है। पाकिस्तान को अफगानिस्तान में हमारे प्रयास में साझीदार बनने से बहुत कुछ हासिल होगा। आतंकवादियों को शरण देना जारी रखने पर उसे बहुत कुछ खोना होगा।