अनाधिकृत ई रिक्शा विक्रताओं पर अंकुश लगाते हुए रूट भी निर्धारित किया जाय – कमिश्नर आशीष कुमार गोयल

शशांक मिश्रा:-

मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल की अध्यक्षता में गांधी सभागार में आयोजित सम्भागीय परिवहन प्रबन्धन की बैठक आयोजित की गयी। बैठक में सर्वप्रथम मण्डलायुक्त ने पिछली बैठक में दिये निर्देशों के अनुपालन की समीक्षा किया जिस पर बताया गया कि सभी निर्देशों का अनुपालन हो गया है। आटो रिक्शा चालक यूनियन के पदाधिकारियों के द्वारा मण्डलायुक्त को इस बात का अनुरोध किया गया कि इन गाड़ियों को परिवहन विभाग से रजिस्ट्रेशन की अवधि को गत 20 सितम्बर से आगे बढ़ाकर 20 दिसम्बर तक कर दिया जाय। मण्डलायुक्त ने यह निर्देश दिये कि अभी फिलहाल स्थानीय निकाय चुनाव के मद्देनजर तिथियों को विस्तृत नही किया जा सकता है एवं इस सम्बन्ध अगली बैठक में भी विचार किया जायेगा।

बैठक में निर्णय लिया गया कि नगरीय परिवहन के वाहनों के रजिस्ट्रेशन की वैधता अवधि 31 मार्च 2018 तक बढ़ा दी जाय। स्कूली बसों को सीएनजी करने की पूर्व निर्धारित अवधि को न बढाये जाने का निर्णय बैठक में लिया गया। मण्डलायुक्त ने ई रिक्शा की बिक्री पर सवाल उठाते हुए आरटीओ को सख्त निर्देश दिये कि अनाधिकृत विक्रेताओं पर अंकुश लगाते हुए नियमानुसार एवं मानक के अनुसार ही ई रिक्शा की बिक्री की जाय। इसी प्रकार ई रिक्शा के रूट निर्धारित करने के साथ उसमें वैध ई रिक्शा के संचालन पर मण्डालयुक्त ने निर्देश दिये।

इसी तरह बैठक में आये सीएनजी सप्लार्स एजेंसी यथा अडानी एवं रिलान्यास के अधिकारियों को मण्डलायुक्त ने यह कडाई के साथ हिदायत दी कि सीएनजी की पाइप लाइन बिछाने के कार्य में तेजी लाये एवं नगर निगम से सामजंस्य बैठाकर इन कार्यो को किया जाय। उन्होंने यह भी कहा कि नवनिर्माण सड़कों के पूर्व कार्यो को पूरा कर लिया जाय। सड़कों के निर्माण के उपरान्त किसी भी दशा में रोड कटिंग की अनुमति नही होगी।