AMU से अजय हो सकते हैं पहले हिन्दू छात्र संघ अध्यक्ष !

अलीगढ़ । अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के इतिहास में पहली बार अमुवि छात्र संघ का चुनाव ऐतिहासिक होने जा रहा है । 2017 के छात्र संघ चुनाव के लिए अमुवि के छात्र 11 दिसंबर को अपने नेताओं का चुनाव करेंगे । अध्यक्ष पद के लिए इस बार मुकाबला बहुत ही रोचक दौर में पहुंच गया है । अध्यक्ष पद के लिए बिहार के मशकूर अहमद उस्मानी, आजमगढ़ के अबू बक्र और अलीगढ के अजय सिंह मैदान में हैं । अजय सिंह के एकमात्र गैर मुस्लिम प्रत्याशी होने से इसस बार अमुवि को पहली बार हिन्दू छात्र संघ अध्यक्ष मिल सकता है । सूत्र कहते हैं कि अमुवि में 30 प्रतिशत गैर मुलिम मतदाता हैं जो एकतरफा अजय के साथ है। वही अलीगढ और पश्चिमी यूपी की लॉबी भी अंदरखाने अजय के साथ है ।

वहीं मशकूर के बिहार और अबू बक्र के आजमगढ़ से होने के चलते दोनों लॉबियों के मतदाताओं में बिखराव की उम्मीद है जिसका सीधा फायदा अजय को मिलेगा । अजय सिंह का कैंपेन भी सोशल मीडिया से लेकर कैंपस में तेजी से हो रहा है । अजय सिंह के कई जगह पोस्टर फाड़े गए हैं, जिसको लेकर भी अजय ने भावुक अपील की है ।

पोस्टर और विरोध पर अजय ने यह लिखा-
“दोस्तों, वो मेरे पोस्टर फाड़ सकते हैं, मुझे मेरे पहचान की बुनियाद पर वोट न करने की अपील व्हाट्सएप्प पे कर सकते हैं, बाकी कैंडिडेट को डरा धमका कर हार के डर से नॉमिनेशन वापस लेने को कह सकते हैं, लेकिन याद रखिये वो अजय सिंह को और उसके उठाये मुद्दों को नहीं रोक सकते. वो मुझसे मेरा एनरोलमेंट नंबर नहीं छीन सकते, वो मुझसे अलीग होने की निशानी नहीं छीन सकते. मेरे पोस्टर अब लोगों के दिल में हैं, दीवालों से तो उतार दोगे मेरी पहचान, पर लोगों के दिल से कैसे निकाल पाओगे. मैं अपने समर्थकों से अपील करता हूँ कि वो हमको उकसाने की कोशिशों में लगे हैं क्यूंकि अपनी हार का डर उनकी ठेकेदारी पे खतरा बन के उनकी नींदे हराम किये हुए हैं. आप अपने मुद्दों पे रहिये. उनको उनके तरीके मुबारक, मुझे आप सबका प्यार मुबारक.
सफ़र में मुश्किलें आएँ तो जुर्रत और बढ़ती है,
कोई जब रास्ता रोके तो हिम्मत और बढ़ती है,
अगर बिकने पे आ जाओ तो घट जाते हैं दाम अक़सर,
न बिकने का इरादा हो तो क़ीमत और बढ़ती है..!!”

अजय सिंह के कैंपेन और अब तक के समीकरणों से अमुवि के इतिहास में पहली बार अजय सिंह के रूप में गैर मुस्लिम अध्यक्ष चुनना तय माना जा रहा है । अब देखना यह है कि छात्र संघ चुनाव के परिणाम का नतीजा क्या होता है ?