इलाहबाद : पुराणों से निकला है वायुमण्डल और समुद्र विज्ञान – प्रो अजीत त्यागी

शशांक मिश्रा/इलाहाबाद |  केन्द्रीय विश्वविद्यालय, इलाहाबाद में एअर वायस मार्शल आचार्य अजीत त्यागी द्वारा मौसम एवं जलवायु सेवाओं पर विशिष्ट व्याख्यान माला के अंर्तगत एक व्याख्य़ान दिया गया। आचार्य़ त्यागी जी न केवल भारत अपितु विश्व में मौसम और जलवायु के जाने माने विशेषज्ञ है। वे भारत मौसम विज्ञान विभाग के डाइरेक्टर जनरल के पद पर कार्य कर चुके हैं। वर्तंमान में वे पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं। प्रोफेसर त्यागी वर्तमान में भारतीय मौसम सोसाइटी के अध्यक्ष भी हैं।

प्रोफेसर त्यागी ने मौसम विज्ञान जुडें ज्वलन्त मुद्दों पर बहुत ही ज्ञान परक् व्याख्यान दिय़ा। उनके व्याख्य़ान का मुख्य़ विषय जलवायु परिवर्तन था। उन्होने बताया कि वायुमण्डलीय एवं समुद्रीय विज्ञान का उद्दगम पुराणों से है। इसके बाद उन्होने जलवायु परिवर्तन के सुचक एवं कारकों के बारें में विस्तृत जानकारी दी। साथ उन्होने जलवायु परिवर्तन से होने वाले दुष्प्रभावों को भी समझाया। उन्होने भारत मौसम विभाग कि सेवाओं एवं उपलब्धिय़ों को बताया भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा कृषि सम्बन्धी जानकारियों के लिए उठाए गए कदमों के बारें मे भी जानकारी दी।

प्रो0 अवनीश चन्द्र पाण्डेय ने अतिथि का परिचय दिया। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रतन लाल हांगलू जी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की एवं प्रो0 त्यागी को स्मृति चिन्ह भेंट किया। डॉ0 सुभादीय हलदर ने धन्यवाद ज्ञापन किया। इस अवसर पर प्रो0 एन,के.शुक्ला, प्रो0 हर्ष कुमार ,प्रो0 आर0 एस0 दूबे ,प्रो0 सुनीत दि्वेदी एवं अन्य शिक्षक गण मौजूद रहे। कार्यक्रम में भारी संख्या शोध छात्र एवं विद्यार्थी रहे। कार्यक्रम का आयोजन के बनर्जी द्वारा वायुमण्डलीय एवं समुद्र विज्ञान केन्द्र द्वारा कराया गया।