इलाहाबाद : भ्रष्टाचार की शिकायत मिली तो सीधे विभागाध्यक्ष पर कार्यवाही : नन्द गोपाल

शशांक मिश्रा/इलाहाबाद | मंत्री, स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क, पंजीयन एवं नागरिक उडड्यन उ.प्र. नन्द गोपाल गुप्ता नंदी ने  अपने इलाहाबाद भ्रमण के दौरान आज सरकिट हाउस में शिकायती प्रकरणों के निस्तारण की समीक्षा बैठक विभागों के अधिकारियों के साथ कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को कड़े शब्दों में निर्देशित किया कि शिकायतों के निस्तारण में सिर्फ कागजी कार्यवाही कर शिकायकर्ता को परेशान किया गया तो विभागाध्यक्ष के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी शिकायती प्रकरण में कृत कार्यवाही का स्वयं निरीक्षण करे तब ही उसे आगे फारवर्ड करे शिकायती प्रकरणों के निस्तराण में किसी भी प्रकार की कोताही बिल्कुल बर्दाश्त नही की जायेगी।
मंत्री आज विभिन्न विभागों के लम्बित शिकायती प्रकरणों की समीक्षा कर रहे थे जिन्हे सिर्फ निचले कर्मचारी की रिपोर्ट पर फारवर्ड कर दिया गया था। उन्होंने अधिकारीयो से कहा कि शिकायतों का जमीनी स्तर पर जाकर निस्तारण करना सुनिश्चित करे शिकायतो के निस्तारण में इस तरह की लापरवाही किये जाने पर जिम्मेदारी तय करते हुए सख्त कार्यवाही की जायेगी शिकायतों निस्तारण कर्मचारियों के द्वारा किया गया है इसकी पुष्टि स्वयं अधिकारी शिकायकर्ता के मोबाइल नम्बर से बात कर सुनिश्चित करे।
मंत्री ने कहा कि विभागों में किसी भी का भ्रष्टाचार नही होना चाहिए विभाग में किसी के भी द्वारा पैसे लेने की शिकायत मिलती है तो सीधे विभागाध्यक्ष के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि अवैध कब्जों के बहुत शिकायते आ रही है इसका निस्तारण सुनिश्चित किया जाय। जिलाधिकारी संजय कुमार से कहा कि अवैध कब्जो में संलिप्त पाये जाने वाले लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाही की जायेगी जिससे और कोई भी इस तरह के अवैध कब्जे न कर सके। जिलाधिकारी ने बताया कि अवैध कब्जों के खिलाफ उनके निर्देशन में निरन्तर कार्रवाही की जा रही है तथा इसमें संलिप्त पाये जाने वाले लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराते हुए उनकी गिरफ्तारी भी करायी जा रही है।
मंत्री ने नगर में गन्दे पानी की शिकायतों पर नगर आयुक्त पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि जिन्ह जगहों से गन्दे पानी की शिकायते आ रही वहां पर स्वयं जाकर उसकी निस्तारण सुनिश्चित कराये जाय। उन्होंने नगर में कूड़ा इधर-उधर पड़े रहने पर भी नगर आयुक्त पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मियों की तैनाती सुनिश्चित की जाय तथा स्वयं नगर निगम के अधिकारिगण सुबह निरीक्षण में निकलकर साफ-सफाई की व्यवस्था का संज्ञान लेना सुनिश्चित करे। मंत्री ने शहर में घूम रहे आवारा पशुओं के पकडने में अपेक्षित सुधार न किये जाने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि आमजन की सुविधा को ध्यान में रखते हुए शहर में घूम रहे आवारा पशुओं को पकड़ने की कार्यवाही मे तेजी लाया जाय गंगा प्रदूषण इकाई के द्वारा खोदी गयी सड़को की मरम्मत समय से कराया जाय।  शासन की मंशा आम आदमी की सुविधा का ध्यान रखना है एवं उसकी समस्याओं का समाधान करना है विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी को अपने दायित्वो को निर्वाहन ईमानदारी से करना है।