इलाहाबाद : कुम्भ को ऐतिहासिक बनाने में जुटा प्रशासन, बैठको का दौर जारी

शशांक मिश्रा/इलाहाबाद | कुम्भ के कार्यो की नियमित रूप से की जाने वाली साप्ताहिक समीक्षा मे मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल के साथ मेलाधिकारी विजय किरन आनंद विभिन्न विभागों मे हो रहे कार्यो की नियमित समीक्षा की। कुम्भ के दौरान चिकित्सालयों मे मेडिकल कालेज मे नये उपकरणों के माध्यम से आधुनिकीरण और भर्ती होने वाले मरीजों के तीमरदारों के लिए सुविधा सम्पन्न रैन बसेरों के निर्माण की प्रगति की समीक्षा की गयी। मण्डलायुक्त ने अधिकारियों को यह निर्देश दिया कि नये उपकरणों के क्रय तथा मरम्मत आदि के कार्यो की यथासम्भव नियमानुसार एएमसी भी कराया जाय ताकि लम्बे समय तक अस्पताल के उपकरण प्रयोग में आ सके और क्रियाशील रहे। पीडब्लूडी के निर्माण कार्यो की प्रगति निर्धारित समय के अनुरूप संतोषजनक पायी गयी।

कुछ प्रकरणों में समीक्षा के दौरान मण्डलायुक्त ने आरयूबी आदि के निर्माण में अधिकारियों को इस बात के लिए सजग रहने को कहा कि निर्माण की निर्धारित लागत में उनके या रेलवे के स्तर से किसी भी दशा में निर्धारण से अधिक वृद्धि न हो। झलवा और बेगम बाजार के बीच सड़क चौड़ीकरण का कार्य समय से पूरा कर लेने तथा उसके भविष्य में विस्तारिकरण के लिए व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार चौफटका पुल के दूसरी तरफ जो दो लेन की सड़क कुम्भ के पूर्व हर हाल में निर्मित कर लेने के निर्देश दिये गये। पावर कार्पोऱेशन के सभी कार्य मई 2018 तक पूर्ण हो जाने की प्रगति योजना देखकर मण्डलायुक्त तथा मेलाधिकारी ने संतोष व्यक्त किया। श्रृंगवेरपुर को कुम्भ के पूर्व आकर्षक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाय तथा श्रृंगवेरपुर को कानपुर हाइवे से जोडने की कार्ययोजना की प्रगति पीडब्लूडी के अधिकारियों से पूछी गयी। जिसमे कानपुर हाइवे से श्रृंगवेरपुर को इंडीकेटर के माध्यम से इंगित करते हुए वही से सुगम और चौड़ी सड़क की व्यवस्था कराये जाने के निर्देश पूर्व में दिये जा चुके है। इस सड़क को निर्मित करने के लिए केन्द्रीय सड़क निधि से पीडब्लूडी को स्वीकृति भी मिल चुकी है।

कुम्भ की साप्ताहिक बैठक के पूर्व मण्डलायुक्त ने मेला क्षेत्र में स्थित वीआईपी प्रशासनिक सभागार में मेले की सफाई व्यवस्था, बिजली और पेयजल से सम्बन्धित अधिकारियों को बुलाकर मेले की व्यवस्थाओं का हाल जाना। इस बैठक में उनके साथ मेलाधिकारी, नगर आयुक्त, प्रभारी माघ मेला तथआ स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। मण्डलायुक्त ने मेले के सभी सेक्टरों मे शौचालयों की स्थापना उनमे बिजली के कनेक्शन तथा पर्याप्त रोशनी के प्रबंध और सफाई के लिए निरन्तर जलापूर्ति का जायजा लिया तथा अधिकारियों को यह निर्देश दिये कि पूरे मेला मे भ्रमण कर आज हर हाल मे देर रात्रि तक भी मुझे रिर्पोट प्रस्तुत करे तथा सभी स्थापित शौचालय मे बिजली और पानी की आपूर्ति संतोषजनक ढंग से पूरी कर ली जाने की वास्तविक रिर्पोट दे। उन्होंन बिजली विभाग तथा जल विभाग के अभियन्ताओं को मेला के हर सेक्टर में घूमकर आज ही देर रात्रि तक जहां कही भी बिजली या पानी की आपूर्ति में कमी हो उसे पूरी तरह से ठीक कर लेने के निर्देश दिये। उन्होंने चिकित्साधिकारी को भी निर्देश दिया कि प्रभारी माघ मेला के साथ शौचालय के सभी 362 सेड्स के बिजली और पानी की आपूर्ति का विवरण मेलाधिकारी को दे तथा साथ ही पूरे मेला अवधि में सभी सेक्टर प्रभारियों और सफाई व्यवस्था से जुड़े सर्किल प्रभारियों को नियमित रूप से बुलाकर तथा स्वंय स्थलीय परीक्षण करते हुए कार्य का निरीक्षण करते रहे । इसी प्रकार सभी शौचालय शेड़्स पर स्टेण्ड पोस्ट लगाकर यह इंगित किया जाय कि वहां शौचालय कार्यरत है। उन्होने हर हाल में ठोस कचड़े का प्रबंधन करने के लिए आवश्यक बैग, डस्टबिन और सेक्शन मशीन आदि की व्यवस्था स्नान के दो दिन पूर्व सुनिश्चित कर स्वयं को अवगत कराने के निर्देश दिये।