इलाहाबाद डीएम ने निर्धन छात्र की स्वंय भरी फीस, हो रही प्रशंसा

शशांक मिश्रा/इलाहाबाद | जिलाधिकारी  संजय  कुमार  जनमिलन  में  जनता  की  शिकायतों  को  निस्तारित  कर  रहे  थे उसी  समय  कैंसर  से  पीड़ित  ग्राम  डुढुवा  तहसील  हंडिया  निवासी  36  वर्षीय  अरविन्द  कुमार कुशवाहा  आये  जिन्होंने  बताया  कि  वह  एक  वर्ष  से  कैंसर  से  पीड़ित  हैं  तथा  आर्थिक  रूप  से बहुत  कमजोर  होने  के  कारण  उनके  इलाज  में  आर्थिक  संकट  बाधा  बन  रही  है।  इस  पर जिलाधिकारी  ने  रीजनल  कैंसर  सेंटर,  कमला  नेहरू  हास्पिटल  के  डा0  मधु  छाबड़ा  से  वार्ताकर रामदेव  कुशवाहा  का  निःशुल्क  इलाज  करने  का  निर्देश  दिया।  जिलाधिकारी  ने  निःशुल्क  इलाज की  समस्त  औपचारिकताओं  की  पूर्ति  करते  हुए  रोगी  का  उपचार  शुरू  करा  दिया।
जनमिलन  में  ही  हिम्मतगंज  निवासी  19  वर्षीय  अविरल  पाठक  अपनी  मां  उर्मिला  पाठक के  साथ  आये।  अविरल  ने  बताया  कि  उनके  जन्म  होने  के  दो  माह  पूर्व  उनके  पिता  की  मृत्यु हो  गयी  थी।  पिता  के  मृत्यु  के  उपरान्त  उनकी  माता  उर्मिला  पाठक  ने  परिवार  की  जिम्मेदारी को  संभालते  हुए  प्राइवेट  संस्थाओं  में  कार्य  कर  उनको  तथा  उनकी  बहन  को  पढ़ाया-लिखाया। अवरिल  ने  बताया  कि  बहन  चेष्टा  भी  अभी  पढ़  रही  हैं।  अविरल  ने  बताया  कि  अभी  तक नाना-नानी  सहायता  कर  दिया  करते  थे  लेकिन  बीबीए  की  पढ़ाई  का  खर्च  बहुत  है  जिसकी फीस  वे  नहीं  भर  पा  रहे  हैं।  अविरल  ने  लखनऊ  विश्वविद्यालय  में  बीबीए  की  प्रवेश  परीक्षा  को पास  किया  है  परन्तु  फीस  न  हो  पाने  के  कारण  अपना  प्रवेश  नहीं  ले  पा  रहा  है।  इसको सुनकर  जिलाधिकारी  संजय  कुमार  ने  तत्काल  अविरल  पाठक  की  फीस  का  चेक  दिया  तथा अध्ययन  में  बाधा  पड़ने  पर  और  मदद  का  आश्वासन  दिया।  जिलाधिकारी  ने  अविरल  पाठक  के उज्ज्वल  भविष्य  की  कामना  करते  हुए  भविष्य  में  और  भी  मदद  करने  का  वादा  किया।  उन्होंने अविरल  से  कहा  कि  भविष्य  में  कभी  भी  हौसला  मत  हारना  क्योंकि  सफलता  की  डगर  में कठिनाईयों  बहुत  होती  हैं।  उन्होंने  अविरल  की  माता  को  बहुत  शुभकामाना  देते  हुए  उनके हौसले  की  सराहना  किया।  अविरल  पाठक  ने  बताया  कि  वह  बीबीए  की  पढ़ाई  कर  मार्केटिंग के  क्षेत्र  में  अपना  कैरियर  बनाना  चाहता  है।   डीएम द्वारा छात्र की मदद करने की तारीफ जिले में हो रही हैं |