इलाहाबाद में बोले CM योगी, “दुनिया के लिए आकर्षण का केन्द्र होगा अर्द्धकुम्भ-2019”

शशांक मिश्रा/इलाहाबाद  | अर्द्धकुम्भ-2019 की तैयारियों के लिए 510 करोड़ रुपये से कराये जाने वाले कार्यो से सम्बन्धित परियोजनाओं का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परेड ग्राउण्ड में आयोजित कार्यक्रम में बटन दबाकर शिलान्यास किया। साथ ही साथ मुख्यमंत्री  ने उ0प्र0 सरकार की महत्वाकांक्षी योजना फसल ऋण मोचन योजना के तहत 11585 लाभार्थी किसानों को फसल ऋण मोचन प्रमाण-पत्र भी वितरित किये। इस योजना के तहत प्रथम चरण में कुल 13156 किसानों को योजना से लाभान्वित कराते हुए प्रमाण-पत्र वितरित किया जाना है।जनपद में फसली ऋण मोचन योजना के तहत कुल 80591 किसानों को लाभान्वित कराया जायेगा। जिसके क्रम में आज आयोजित हुए कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा चयनित किसानों को प्रमाण-पत्र वितरित किया गया।
उपस्थित जन-समुदाय को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 2019 में आयोजित होने वाला अर्द्धकुम्भ ऐतिहासिक एवं यूनिक इंवेट के रुप में आयोजित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि यह आयोजन पूरी दुनिया के लिए आकर्षण का केन्द्र होगा। अर्द्धकुम्भ-2019 को दिव्य एवं भव्यरुप से आयोजित किये जाने के लिए ही अभी से तैयारियाॅं प्रारम्भ कर दी गयी हैं।मेले को सुव्यवस्थित एवं सुन्दर ढंग से आयोजित करने के लिए प्रयागराज मेला प्राधिकरण का गठन किया जायेगा। जिसके द्वारा मेले केेेे आयोजन हेतु ठोस एवं स्थायी कार्यो को कराया जायेगा श्रृद्धालुओं की सुविधा के लिए विशेष कार्य कराये जायेंगे मेले का आयोजन इस तरह से होगा कि यह पूरी दुनिया के लिए आकर्षण का केन्द्र होगा इलाहाबाद में ढ़ाई हजार करोड़ की लागत से ठोस एवं स्थायी कार्य कराये जाएंगे। यह सभी कार्य अर्द्धकुम्भ-2019 को मद्देनज़र रखते हुए कराया जायेगाइलाहाबाद को लखनऊ तथा अन्य शहरों से वायुमार्ग से जोड़ा जायेगा और यह कार्य प्रत्येक दशा में अर्द्धकुम्भ मेले के आयोजन के पहले ही पूर्ण करा लिया जायेगा।
 मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि प्रयागराज तीर्थ स्थल के साथ ही साथ श्रृंगवेरपुर ऐतिहासिक स्थल का भी विकास किया जायेगा।  चन्द्रशेखर आज़ाद पार्क तथा भरद्धाज पार्क में प्रवेश के लिए जनता को पैसा नहीं देना पड़ेगा। उन्हांेने कहा कि पार्क के रख-रखाव एवं सौन्दर्यीकरण के लिए उ0प्र0 सरकार के द्वारा खर्चे का वहन किया जायेगा। आयोजित होने वाले कुम्भमेले की भव्यता एवं दिव्यता तथा उसकी ऐतिहासिकता के प्रति लोगों में जागरुकता पैदा करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री ने कहा कि आज से इलाहाबाद एवं उ0प्र0 में कोई भी कार्य शुरु होगा तो उसमें कुम्भ मेले का लोगो अवश्य अंकित रहेगा।  भ्रष्टाचारियों, भू-माफियाओं के विरुद्ध सरकार के द्वारा कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जा रही है।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में मुख्यमंत्री द्वारा दीप प्रज्जवलित करके कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर उपस्थित जन प्रतिनिधियों एवं जनता का स्वागत करते हुए मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने कहा कि इलाहाबाद में चार रेलवे उपरिगामी सेतुओं का निर्माण केवल एक वर्ष में कर लिये जाने का संकल्प मुख्यमंत्री के आशीर्वचन से संपन्न हुआ है। आजादी के बाद जितने फ्लाईओवर इलाहाबाद में अबतक बने हैं उससे अधिक फ्लाईओवर केवल एक वर्ष में बनने जा रहे हैं।
इस अवसर पर नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना, चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री  सिद्धार्थनाथ सिंह, कैबिनेट मंत्री  रीता बहुगुणा जोशी, कृषि मंत्री  सूर्य प्रताप साही, स्टाम्प एव पंजीयन मंत्री  नन्द गोपाल नन्दी ने अपने-अपने विभाग से संबंधित एवं संचालित योजनाओं तथा अर्द्धकुम्भ मेले एवं किसान ऋण माफी योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर  सांसद श्यामा चरण गुप्त, इलाहाबाद एवं कौशाम्बी के विधायकगण, पूर्व मेयर अभिलाषा गुप्ता, भाजपा जिला एवं नगर अध्यक्ष सहित अन्य जनप्रतिनिधियों के अलावा अपर पुलिस महानिदेशक, मण्डलायुक्त डा0 आशीष कुमार गोयल, जिलाधिकारी  संजय कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी सैमुअल पाल सहित अन्य अधिकारीगणों के अलावा भारी संख्या में किसान एवं जन समुदाय उपस्थित रहे।