इलाहाबाद HC के चीफ जस्टिस ने शौर्य और वीरता चक्र से जाबांजो को किया सम्मानित

शशांक मिश्रा/इलाहाबाद | स्वतंत्रता  दिवस  के  अवसर  पर  इलाहाबाद  उच्च  न्यायालय  के  मुख्य  न्यायाधीश    दिलीप  बाबा  साहेब  भोसले  ने अपने  आवास  पर  झण्डा  रोहण  किया।  उन्होंने  इस  अवसर  पर  जनपद  वासियों  के  साथ  ही  प्रदेश  वासियों  को  स्वतंत्रता दिवस  की  हार्दिक  शुभाकामनायें  व  बधाई  दी।  इसके  उपरान्त  मुख्य  न्यायाधीश  ने  उच्च  न्यायालय  के  न्यायमूर्तिगणों  से मिलकर  सभी  को  स्वतंत्रता  दिवस  की  बधाई  दी  |
मुख्य  न्यायाधीश  ने फाफामऊ  आएएफ  में  तैनात  कमाण्डेंट  चन्दन  को  अदम्य  साहस  और  वीरता  के  लिए  शौर्य  चक्र की  घोषणा  होने  के  उपरान्त  शाॅल  और  प्रतीक  चिन्ह  देकर  सम्मानित  किये।  बिहार  के  औरंगाबाद  जिले  में  तैनाती  के दौरान  कमाण्डेंट  चन्दन  ने  जनवरी  2016  में  माववादियों  से  मुठभेड़  के  दौरान  6  माववादियों  को  मार  गिराया  था। कमाण्डेंट  चन्दन  के  इस  अदम्य  साहस  और  वीरता  के  लिए  शौर्य  चक्र  की  घोषणा  हुई  है।   सीआरपीएफ  के  सहायक  कमाण्डेंट  उमेश  कुमार  ने  05  जनवरी  2014  को  बिहार  के  जमुई  जिले  में  गिदेश्वर पहाड़  के  जंगलों  में  कोबरा  बटालियन  की  ओर  से  चलाये  गये  अभियान  में  अदम्य  साहस  और  वीरता  का  परिचय  दिया था  जिसके  लिए  उन्हें  राष्ट्रपति  के  वीरता  पदक  से  सम्मानित  किया  जा  चुका  है।  इनको  भी  मुख्य  न्यायाधीश  ने  शाॅल और  प्रतीक  चिन्ह  देकर  सम्मानित  किया।  इस  दौरान  आरएफ  के  कमाण्डेंट  दिनेश  सिंह  चंदेल  सहित  अन्य  सैन्य अधिकारीगण  मौजूद  थे।  कार्यक्रम  के  उपरान्त  आरएएफ  के  बैण्ड  ने  शहीदों  को  नमन  किया।