इलाहाबाद : भारत के हर सपूत में हो चन्द्रशेखर आजाद जैसी देशभक्ति – जस्टिस मित्तल

शशांक मिश्रा /इलाहाबाद | चन्द्रशेखर  आजाद  पार्क  के  ध्यान  केन्द्र  में  अमर  शहीद  चन्द्रशेखर  आजाद  की  111वीं  जयंती  के  पूर्व  संध्या पर  जिला  प्रशासन  तथा  भारतीय  डाक  विभाग  के  संयुक्त  तत्वावधान  में  चन्द्रशेखर  आजाद  पार्क  पर  आधारित  6 पोस्टकार्डों  की  श्रृंखला  इलाहाबाद  उच्च  न्यायालय  के  न्यायमूर्ति    पंकज  मित्तल  तथा  दिलीप  गुप्ता,  जिलाधिकारी संजय  कुमार,  सीपीआरओ  गौरव  बंसल,  आरएएफ  कमाण्डेंट  दिनेश  सिंह  चंदेल,  निदेशक  डाक  विभाग  सुनील  कुमार राय  द्वारा  विमोचन  किया  गया।
इस  अवसर  पर  न्यायमूर्ति    पंकज  मित्तल  ने  कहा  कि  चन्द्रशेखर  आजाद  जी  जैसी देशभक्ति  भारत  के  हर  सपूत  में  होनी  चाहिए। शहीद  चन्द्रशेखर  आजाद  देश  के  आजादी  के  लिए अपनी  जान  हंसते  हुए  न्योच्छावर  कर  दिय  थे।    आज  देश  के  लोग  स्वतंत्रता  का  सही  उपयोग  करें तथा  सभी  मिलकर  देश  को  संवारने  तथा  विकास  करने  के  साथ  ही  साथ  युवा  अपनी  बौद्धिक  क्षमता  का  विकास करते  हुए  भविष्य  को  संवारें।    हर  व्यक्ति  को  प्रकृति  का  संरक्षण  करना  चाहिए।  उन्होंने कहा  कि आक्सीजन  मशीन  नहीं  पेड़-पौधे  बनाते  हैं,  जो  मनुष्य  को  स्वस्थ  रखती  है।   न्यायमूर्ति  दिलीप  गुप्ता  ने  कहा  कि  शहीद  चन्द्रशेखर  आजाद  जी  का  वर्णन  शब्दों  में  नहीं  किया  जा  सकता है।  उन्होंने  देश  को  स्वतंत्र  कराने  के  लिए  अपनी  जान  कुर्बान  कर  दिया  था।    यह  पार्क  आजाद  जी की  शहादत  को  जाया  नहीं  होने  देगा।  उन्होंने  कहा  कि  यह  पार्क  शहर  का  दिल  है  और  आजाद  जी  लोगों  के  दिल में  रहते  हैं।    इस  पार्क  को  विश्व  में  सबसे  सुंदर  बनाना  है  परन्तु  यह  कार्य  आसान  नहीं  है।  उन्होंने आम  जनता  से  कहा  कि  सभी  मिलकर  प्रयास  करें  तब  यह  कार्य  आसान  हो  जायेगा।  सभी  व्यक्ति प्रण  करें  कि  इस  पार्क  स्वच्छ,  सुंदर  तथा  दिव्य  रखेंगे।
जिलाधिकारी  संजय  कुमार  ने  अतिथियों  का  स्वागत  करते  हुए  कहा  कि  आजाद  जी  की  111वीं  जयंती  शहर के  लिए  विशिष्ट  है।    जनपद  ही  नहीं  देश  और  विश्व  के  लिए  यह  पार्क  तथा  चन्द्रशेखर  आजाद  जी की  शहादत  देश  के  प्रति  अपने  कर्तव्यों  का  याद  बोध  कराता  रहेगा।   चन्द्रशेखर  आजाद  जी  की शहादत  का  पूरा  जनपद  नमन  करते  हुए  सम्मान  करता  है  और  हमेशा  करता  रहेगा।  उन्होंने  उम्मीद जताई कि  उनकी 125वीं  जयंती  तक  इस  पार्क  का  और  विकास  होगा  तथा  अधिक  से  अधिक  संख्या  में  पौधे  लगेंगे।   अभी  जो  कमियों  हैं  उनको  दूर  की  जायेंगी  तथा  इसे  और  संवारा  जायेगा।  जिलाधिकारी  ने  कहा  कि  अर्द्धकुम्भ  से  पूर्व मेले  में  विशिष्ट  कार्य  होंगे।  इस  पार्क  में  म्यूजिकल  फाउंटेन  की  स्थापना  होगा  तथा  यहां  कि  जैव  विविधता  को जनसामान्य  के  लिए  प्रकाशित  किया  जायेगा।   जिलाधिकारी  ने  बताया  कि  इस  वर्ष  इस  प्रांगण  में  करीब  दो  हजार  पौधे  रोपित  किये  जायेंगे।  23 जुलाई  को  शहीद  चन्द्रशेखर  आजाद  जी  की  जयंती  पर  पांच  सौ  पौधे  रोपित  किये  जायेंगे।  उन्होंने  एलान किया कि चन्द्रशेखर  आजाद  जी  की  111वीं  जयंती  पूरे  दिन  आम  जनता  के  लिए  प्रवेश  निःशुल्क  रहेगा।
कार्यक्रम  के  प्रारम्भ  में दीप  प्रज्ज्वलित  करते  हुए  शहीद  चन्द्रशेखर  आजाद  जी  को  नमन  किया  गया।  शहर  के  प्रसिद्ध  गायक  भूपेन्द्र  द्वारा वंदेमातरम,  जहां  डाल-डाल  पर  सोने  की  चिड़िया  करती  हैं  बसेरा  तथा  सीपीआरओ  गौरव  बंसल  द्वारा  है  प्रीत  जहां की  रीत  सदा  मैं  गीत  वहां  के  गाता  हूं  तथा  रंजना  त्रिपाठी  द्वारा  ऐ  मेरे  वतन  के  लोगों  प्रस्तुत  किया  गया।  इसके  पूर्व अतिथियों  ने  आजाद  पार्क  के  प्रांगण  में  पौधारोपण  भी  किया।  कार्यक्रम  का  संचालन  रंजना  त्रिपाठी  ने  किया  तथा धन्यवाद  ज्ञापन  निदेशक  डाक  विभाग  सुनील  कुमार  राय  ने  किया।  इस  अवसर  पर  प्रशासनिक  अधिकारियों  सहित जनसामान्य  लोग  उपस्थित  थे।