इलाहाबाद : 2 करोड़ श्रद्धालुओं ने मौनी अमावस्या पर संगम में लगाई आस्था की डुबकी

शांक मिश्रा/ इलाहाबाद | दो प्रमुख स्नान पर्वों के बाद तीसरा मुख्य स्नान पर्व मौनी अमावस्या सकुशल एवं निर्विध्न सम्पन्न हुआ। मौनी अमावस्या स्नान पर्व प्रातः 5.11 बजे से प्रारम्भ होने तथा मेला प्रशासन द्वारा की गयी बेहतर व्यवस्थाओं के फलस्वरूप लगभग 2 करोड़ स्नानार्थियों/श्रद्धालुओं द्वारा रिपोर्ट लिखने तक पवित्र गंगा-यमुना एवं अदृश्य सरस्वती के संगम तट तथा गंगा जी के अन्य घाटों पर स्नान कर पुण्य लाभ अर्जित किया गया और अभी भी स्नानार्थियों का आगमन निरन्तर हो रहा है, जिसको दृष्टिगत रखते हुए अनुमान है कि देर रात्रि तक लगभग 2.25 करोड़ श्रद्धालुगण संगम एवं गंगा तटों पर डुबकी लगाकर पुण्य लाभ अर्जित करेगे।

किसी प्रकार की अप्रिय घटना प्रकाश में नहीं आयी। मेले में शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत आर0ए0एफ0 एवं पी0ए0सी0 तथा नागरिक पुलिस के जवानों द्वारा सतत निगरानी रखी गयी, जिसके कारण किसी प्रकार की अप्रिय स्थिति उत्पन्न नही हुई।आशीष कुमार गोयल, मण्डलायुक्त, इलाहाबाद, सुहास एल0 वाई0, जिलाधिकारी, इलाहाबाद, विजय किरन आनन्द, मेलाधिकारी, कुम्भ मेला, आकाश कुलहरि, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक,अतुल सिंह, अपर जिलाधिकारी(नगर), राजीव कुमार राय, प्रभारी अधिकारी, माघ मेला तथा पुलिस अधीक्षक माघ मेला व अन्य मजिस्टेªट तथा पुलिस अधिकारीगण मेला क्षेत्र का भ्रमण कर शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखते हुए स्नान घाटों पर सतत् निगाह रखे रहे। जिलाधिकारी, इलाहाबाद द्वारा स्नान पर्व को सकुशल सम्पन्न कराने में किये गये सहयोग पर आर्मी, आर0ए0एफ0, पुलिस प्रशासन, नागरिक सुरक्षा, सभी कार्यदायी विभागों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आगामी स्नान पर्वों पर भी इसी तरह तत्परता एवं निष्ठापूर्वक कार्य करने हेतु निर्देश दिये गये। मौनी अमावस्या स्नान पर्व को सकुशल एवं निर्विघ्न सम्पन्न कराने में प्रेस-प्रतिनिधियों, कल्पवासियों, प्रयागवाल, साधु-सन्तों एवं स्नानार्थियों का भी सहयोग रहा है। मेला क्षेत्र में बिछुडे़(खोये) 7425 महिला/पुरूष व 19 बच्चों को उनके परिजनों से मिलाया गया।