अलका लांबा का ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल, लिखा-‘ध्यानचंद तो बहाना है, पनौती को अपनी विफलताओं से ध्यान भटकाना है’

नई दिल्ली | राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार का नाम बदलने पर देशभर में हंगामा मचा हुआ है | केंद्र सरकार द्वारा मेजर ध्यानचंद के नाम से राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार करने पर कांग्रेस ने सवाल उठाये हैं | कांग्रेस की प्रवक्ता अलका लांबा ने कहा है कि मोदी सरकार की मंशा मेजर ध्यानचंद को सम्मान देना नहीं बल्कि विवाद खड़ा कर मूल मुद्दों से ध्यान भटकाना है | अलका लांबा ने कहा है कि मेजय ध्यानचंद के नाम से सरकार कई बड़े पुरस्कार शुरू कर सकती थी लेकिन नहीं किये | उन्होंने कहा कि हॉकी में खिलाडियों ने खुद की मेहनत से पदक दिलाया और सरकार अब दिखावा कर रही है | उन्होंने कहा कि सबसे पहले पीएम मोदी को खुद के नाम से अहमदाबाद में बने स्टेडियम का नाम बदलकर मेजर ध्यानचंद के नाम से करना चाहिए |

अलका लांबा ने एक ट्वीट में कहा कि ध्यानचंद तो बहाना है, पनौती को अपनी विफलताओं से ध्यान भटकाना है। भारत रत्न राजीव गांधी अमर रहें। महान खिलाड़ी #ध्यानचंद अमर रहें।

वहीँ, अलका लांबा ने एक अन्य ट्वीट में कहा है कि काँग्रेस, देशवासियों को तैयार रहना चाहिए, मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिये आने वाले समय में मोदी सरकार अपने ही संघ के छोटे रिचार्ज केजरीवाल (सरकार) द्वारा विधानसभा में पारित उस प्रस्ताव पर भी मोहर लगा दे जिसमें #राजीव गांधी जी को देश द्वारा दिया गया #भारत रत्न वापस लेने की बात कही है