महिला सुरक्षा पर कांग्रेस ने BJP को घेरा, अलका लांबा ने महिला मंत्रियों पर उठाये सवाल-

नई दिल्ली | दिल्ली सहित देश में महिला सुरक्षा के मुद्दे पर कांग्रेस ने एकबार फिर आवाज उठाई है | देशभर में महिला सुरक्षा पर चिंता जताई है और मोदी सरकार और उनकी कैबिनेट में मौजूद महिला मंत्रियों पर निशाना साधा है | कांग्रेस की चर्चित नेत्री और प्रवक्ता अलका लांबा ने वरिष्ठ नेता सुप्रिया श्रीनेत, रागिनी नायक और अमृता धवन के साथ मिलकर प्रेस को सम्बोधित किया और महिलाओं की आवाज उठाई |

अलका लांबा ने कहा कि दिल्ली का मामला राज्य का मामला नहीं है, दिल्ली देश की राजधानी है। यहाँ की कानून व्यवस्था केंद्र सरकार यानी गृहमंत्री के अधीन है, जब यहाँ हालात ऐसे हैं, तो देश के दूर-दराज के इलाकों में हमारी बच्चियों के क्या हालात हो रहे होंगे | अलका लांबा ने कहा कि संसद में एक दिन का सत्र महिला सुरक्षा के नाम होना चाहिए ताकि महिलाओं को न्याय मिल सके, उनकी आवाज उठाई जा सके | उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की महिला कैबिनेट मंत्री शॉपिंग में मस्त हैं लेकिन महिलाओं की आवाज उठाने का उनमे साहस नहीं है | अलका लांबा ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा |

अलका लांबा ने कहा कि हम उम्मीद कर रहे थे कि देश में चल रहे संसद सत्र में 11 महिला सांसद व मंत्री देश में महिलाओं के बने चिंताजनक हालातों पर चर्चा की मांग करेंगी। लेकिन उन्होंने चर्चा की मांग नहीं की |

अलका लांबा ने कहा कि एक तरफ भारत की बेटियां ओलंपिक में नाम रोशन कर रही थीं, वहीं भारत की राजधानी दिल्ली के अंदर उसी समय दरिंदे हमारी 9 साल की बच्ची को नोचकर उसकी हत्या कर रहे थे |