दिल्ली में फूंक-फूंककर कदम रख रही कांग्रेस, अलका लांबा बन सकती हैं प्रदेश अध्यक्ष

नई दिल्ली । दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के नाम की घोषणा जल्द कर दी जाएगी। माना जा रहा है कि इस बार पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष पद की कमान किसी युवा नेता के हाथ में सौंपी जाएगी। पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष के नाम पर चर्चाएं लगातार चल रही हैं। शक्ति सिंह गोहिल को दिल्ली कांग्रेस का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है, लेकिन कार्यभार न संभालने की वजह से भी प्रदेशाध्यक्ष की घोषणा फिलहाल नहीं की गई है।

चुनाव से महज कुछ दिन पहले ही पार्टी ने सुभाष चोपड़ा को प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किया था। इसका असर कहीं न कहीं चुनाव पर भी पड़ा। विधानसभा चुनाव के नतीजों को देखने के बाद कांग्रेस दिल्ली में फूंक-फूंककर कदम रख रही है, ताकि पार्टी को नए सिरे से सशक्त रूप में पेश किया जा सके। चांदनी चौक से पूर्व विधायक अलका लांबा ने कहा कि पार्टी नए सिरे से आगे बढ़ेगी। बेशक विधानसभा में पार्टी का एक भी विधायक या दिल्ली का सांसद नहीं है, लेकिन किसी भी मुद्दे पर पार्टी विरोध जताने से पीछे नहीं हटेगी।

अलका लांबा को दी जा रहीं बधाइयां-
सोमवार को सोशल मीडिया पर चांदनी चौक से पूर्व विधायक अलका लांबा को बधाइयां देने का सिलसिला चला। सूत्रों का कहना है कि सभी पहलुओं पर चर्चा के बाद नाम भी लगभग तय हो चुका है, जिसकी घोषणा जल्द की जाएगी। इससे पहले भी शीला दीक्षित के निधन के बाद कई महीनों तक कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष का पद खाली रह गया था, जिसका पार्टी का खामियाजा भुगतना पड़ा था।