पंचायत चुनाव में वोट मांगते समय अलीगढ के BJP नेता को मारी गोली, कारण जानकर चौंक जायेंगे आप-

अलीगढ | अतरौली क्षेत्र के गांव सिरसा निवासी वरिष्ठ भाजपा नेता व जिला पंचायत के वार्ड नंबर तीन से सदस्य पद के उम्मीदवार चौ. बौद्धपाल सिंह को बूलापुर गांव में वोट मांगते समय एक महात्मा ने गोली मार दी। गोली लगने से घायल भाजपा नेता को ग्रामीणों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। उधर घायल भाजपा नेता को अलीगढ़ के एक निजी ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। भाजपा नेता चौ. बौद्धपाल सिंह गांव-गांव जनसंपर्क व वोट की मनुहार करने में जुटे थे। शनिवार को पालीमुकीमपुर थाने के गांव बूलापुर में वह वोट मांग रहे थे तभी गांव सिरसा निवासी महात्मा रामेश्वर शर्मा उर्फ नेकसे पुत्र अनोखेलाल शर्मा निवासी सिरसा ने उनकी पीठ पर गोली मार दी। इसके बाद सिर पर चिमटे से हमला कर घायल कर दिया।

गोली चलने की आवाज पर उनके साथ मौजूद ग्रामीणों ने आरोपी महात्मा नेकसे को पकड़कर अपने गांव ले गए। सूचना पर छर्रा पुलिस पहुंच गई। घटनास्थल पालीमुकीमपुर थाना होने के कारण आरोपी को पालीमुकीमपुर पुलिस के हवाले कर दिया गया। घायल भाजपा नेता से पार्टी जिलाध्यक्ष चौ. ऋषिपाल सिंह, भाजपा विधायक ठा. रवेंद्र पाल सिंह समेत कस्बे व गांव के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने अलीगढ़ के निजी ट्रामा सेंटर पहुंचकर मुलाकात की। सभी ने उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की।

साधु बनने पर मजबूर किया था-
पुलिस क्षेत्राधिकारी अतरौली सुदेश कुमार गुप्ता ने बताया कि ग्रामीणों व पुलिस की सजगता के कारण हमलावर को तत्काल पकड़ लिया गया। पूछताछ के दौरान आरोपी नेकसे ने बताया कि दो दशक से भी अधिक समय पहले चौ. बौद्धपाल सिंह ने उन्हें घर-परिवार छोड़कर साधु बनने पर मजबूर कर दिया था।
तभी से उनके मन में उससे बदला लेने की ज्वाला धधक रही थी। मौका देखकर गोली और चिमटे से वार किया। उधर गांव में चर्चा थी कि आरोपी महात्मा की चौ. बौद्धपाल सिंह के परिवार से अच्छे संबंध थे। ऐसी क्या बात थी कि वह इतने वर्षों से मन में द्वेष भावना पाले रहा