अतरौली क्षेत्र में जिन्दगी से जंग लड़ रहा बेबस ‘राजकुमार’, योगी के मंत्री संदीप से मदद की आस !

जियाउर्रहमान/अलीगढ़ |सीएम योगी के मंत्री संदीप सिंह के गृह क्षेत्र में एक परिवार पर कुदरत का कहर टूट रहा है | यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान में राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह का भी यही क्षेत्र है | जिला मुख्यालय से 30 किलोमीटर दूर अतरौली के गांव राजमार्गपुर में स्व. रामप्रसाद के परिवार से मानो किस्मत रूठ सी गई हो। परिवार पर संकट भी ऐसा आया जिसे तमाम मजबूरियों और दुश्वारियों के बीच झेला जा रहा है। मानो वक्त से जंग लड़ी जा रही हो। आर्थिक एवं सामाजिक रूप से बेबस इस परिवार को न तो गाँव के प्रधान से कोई मदद मिली है और न ही जिले के प्रशासन से | अब योगी सरकार में राज्यमंत्री संदीप सिंह से राजकुमार को मदद की आस है | संदीप सिंह उसकी मदद करते हैं या नहीं यह तो वक़्त बताएगा लेकिन ‘राजकुमार’ की आँखे उम्मीद का दामन थामे हुए हैं |

योगी के मंत्री संदीप सिंह की अतरौली विधानसभा के गाँव राजमार्गपुर में रामप्रसाद की पत्नी ओमवती ने 20 वर्ष पूर्व अपने ऐसे बच्चे ‘राजकुमार’ को जन्म दिया, जो ‘एकोन्ड्रो प्लाजिया’ (जिसमें गर्भ में ही बच्चे के हाथ-पैर छोटे हो जाते हैं) बीमारी से ग्रसित है। अब 20 वर्ष उम्र होने के बाद भी चलने-फिरने में नाकाम राजकुमार दो वक्त की रोटी के लिए भी मोहताज है। यह परिवार इतना लाचार है कि सरकारी दफ्तरों के भी चक्कर नहीं लगा सकता | बस ईश्वर से किसी चमत्कार की आस लगाये हुए है | 20 वर्षीय राजकुमार का कहना है कि वह इतने लाचार है कि सरकारी दफ्तरों के चक्कर भी नहीं लगा सकते। वह कहता है कि पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यपाल कल्याण सिंह और उनके पौत्र संदीप सिंह संजू भैया से पूरी आस है कि अगर ‘बाबूजी’ को उनके बारे में पता चलेगा, तो जरूर सरकारी मदद मुझ तक पहुंच जाएगी |

अब देखना यह है कि सरकारी तंत्र और योगी सरकार के युवा मंत्री संदीप सिंह आखिर कब ‘जिंदगी’ से जंग लड़ रहे राजकुमार की आस सुनते हैं और उसे मदद पहुंचाते हैं |