अलीगढ : योगीराज में नमाज पढने से अपवित्र हुई कलेक्ट्रेट, गंगाजल से शुद्धिकरण

उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद अब ईश्वर की उपासना से भी धरती अपवित्र होने लगी है , जी हाँ, अलीगढ में जिलाधिकारी कार्यालय समस्या लेकर आये मुस्लिम समाज ने नमाज के वक़्त वहां नमाज क्या अदा कर ली  जिलेभर में हंगामा खड़ा हो गया | धर्म के ठेकेदारों को राजनीति करने का मौका मिल गया और नमाज से कलेक्ट्रेट के अपवित्र होने की कहते हुए शुद्धिकरण करने लगे | बकायदा गंगाजल का छिडकाव भी किया गया | पुलिस ने हालांकि धारा-144 की कार्यवाही करते हुए सभी को गिरफ्तार कर लिया | हिन्दू महासभा के इस नए शिगूफे से महानगर का माहौल एक बार फिर गरमा गया है | पुलिस प्रशासन भी एहतियात बरत रहा है | सीएम योगी के सुशासन के दावे को खुद हिंदूवादी संगठन ही पलीता लगा रहा हैं | योगी सरकार के लिए इनसे निबटना बड़ी चुनौती बन गया है |

दरअसल पूरा मामला शनिवार से जुडा है | गत शनिवार को शहर के महफूजनगर के मुस्लिम समुदाय के लोग अपनी शिकायत लेकर जिलाधिकारी से मिलने आये थे | जहां नमाज का समय होने पर उन्होंने नमाज पढ़ ली | बस यहीं से शहर भर में चर्चाएँ होने लगी | हिन्दू महासभा ने मीडिया प्रभारी अशोक पाण्डेय के नेतृत्व में  रविवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर गंगाजल छिड़कना शुरू कर दिया | उनका कहना था कि नमाज पढने से कलेक्ट्रेट अपवित्र हो गयी है उसका शुद्धिकरण कर रहे हैं | प्रदेश के संवेदनशील शहरों में शुमार अलीगढ में जैसे ही इसकी सुचना पुलिस को मिली तो एसपी सिटी अतुल श्रीवास्तव, सीओ राजीव कुमार फ़ोर्स सहित मौके पर पहुँच गए  हिंदुवादियो से पुलिस की काफी नौक झोंक भी हुई | पुलिस ने 7 हिंदुवादियो को गिरफ्तार कर लिया | बाद में उन्हें धारा-144 की कार्यवाही कर छोड़ दिया |

हिन्दू महासभा द्वारा नमाज पढने से अपवित्र होने के मुद्दे ने शहर में नया शिगूफा छोड़ दिया है | हिन्दू महासभा ने उपरकोट और अमीरनिशा में अब हनुमान चालीसा कराने का एलान किया है | हिन्दू महासभा के तेवरों से यह स्पष्ट हो गया है कि योगी सरकार के सुशासन के एजेंडे को वह मानने वाले नहीं हैं | अब सवाल यह है कि खुलकर साम्प्रदायिकता भड़काने वाले ऐसे संगठनों पर योगी सरकार कैसे निबटेगी और क्या कार्यवाही करेगी ?

विभिन्न धर्मो और सम्प्रदायों के उपासना के तरीके अलग अलग हो सकते हैं लेकिन सभी धर्मो में ईश्वर को एक माना गया है | शायद धर्म की ठेकेदार बनने चली हिन्दू महासभा यह भूल गयी है | हिन्दू महासभा की ओछी राजनीति से अब लोगो के मन में प्रश्न है कि नमाज पढने या ईश्वर की अराधना करने से कोई जगह अपवित्र कैसे हो सकती है ?