अलीगढ : विरोध के चलते पाकिस्तानी तारिक फतह का कार्यक्रम निरस्त, छात्र नेताओं की हुई जीत

अलीगढ | डीएस कालेज में तारिक फतह का होने वाला कार्यक्रम छात्रों के विरोध के चलते आखिरकार निरस्त हो गया है | आहुति संस्था द्वारा विश्व शांति और इस्लाम नाम से आयोजित गोष्ठी में तारिक फतह को बुलाया जा रहा था जिसको लेकर कालेज के छात्रों और मुस्लिम समुदाय में भारी आक्रोश था | सपा छत्रा सभा और एनएसयूआई कार्यक्रम के विरोध में आंदोलनरत थे | दोनों संगठन के छात्र नेताओं ने किसी भी कीमत पर तारिक फतह को कालेज में  न घुसने देने का एलान किया था | हालांकि तारिक फतह के कार्यक्रम के आयोजक अशोक चौधरी ने तारिक की सेहत खराब होने का हवाला देते हुए कार्यक्रम  निरस्त करने की बात कही है | तारिक के आने से शहर का माहौल गर्म था और मुस्लिम समुदाय में आक्रोश की चिंगारी थी  जो अब कार्यक्रम निरस्त होने के बाद शांत हो  गई है | वहीँ छात्र नेताओं ने इसे छात्रों की जीत बताया है |

कलेक्ट्रेट पर बारिश के बावजूद छात्रो का प्रदर्शन- 

पाकिस्तानी तारिक फतह के डीएस कालेज ऑडिटोरियम में होने वाले कार्य्रक्रम के विरोध में सपा छात्र सभा और एनएसयूआई ने गुरूवार को भी कलेक्ट्रेट पर बारिश में भीगते हुए जबरदस्त धरना प्रदर्शन कर तारिक फतह का कार्यक्रम निरस्त करने की मांग की | छात्रों ने कालेज प्रशासन और पकिस्तान के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की |

 गुरूवार को सपा छात्र नेता जियाउर्रहमान और एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष अनुशेष शर्मा के नेत्रत्व में बारिश होने के बावजूद छात्र तारिक फतह के कार्यक्रम के विरोध में कलेक्ट्रेट पहुंचे | छात्रों ने कलेक्ट्रेट पर पाकिस्तान और तारिक फतह मुर्दाबाद के नारे लगाये | शहर और कालेज के शांति एवं सद्भाव के लिए विवादित पाकिस्तानी तारिक फतह का कार्य्रकम निरस्त कराने की मांग की | छात्रों के प्रदर्शन की सूचना पर एसएलओ दिलीप यादव पहुंचे और छात्रों को तारिक फतह का कार्यक्रम आयोजित न होने देने का आश्वासन दिया | छात्र नेताओं ने एसएलओ को जिलाधिकारी के नाम ज्ञापन भी सौंपा | ज्ञापन में छात्रों ने कहा कि तारिक फतह शहर और कालेज का माहौल खराब करने के लिए षड़यंत्र के तहत बुलाया जा रहा है, आयोजक रमजान के माह में माहौल खराब करना चाहते हैं | ज्ञापन में कहा गया है कि मुस्लिम छात्रों और समुदाय में तारिक फतह के कार्यक्रम से रोष व्याप्त है | जिलाधिकारी से ज्ञापन के माध्यम से छात्र नेताओं ने मुस्लिम छात्रों और समुदाय की भावना को देखते हुए कार्य्रक्रम निरस्त कराने की मांग की | एसएलओ ने किसी भी समुदाय की भावना को ठेस पहुँचाने वाले कार्यक्रम को आयोजित न होने देने का आश्वासन दिया |

सपा छात्र नेता जियाउर्रहमान ने कहा कि डीएस कालेज ऑडिटोरियम में पाकिस्तानी तारिक फतह को षड़यंत्र के तहत बुलाया जा रहा है , छात्रों को धर्म के आधार पर बांटने की साजिश है जिसे सफल नहीं होने दिया जायेगा | उन्होंने कहा कि तारिक फतह का कार्यक्रम किसी भी कीमत पर नहीं होने देंगे | डीएस कालेज सौहार्द का प्रतीक है इसे बदनाम नहीं होने देंगे | एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष अनुशेष शर्मा ने जिला प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि तारिक फतह का कार्य्रक्रम हुआ तो उत्पन्न होने वाले हालातों के लिए प्रशासन जिम्मेदार होगा | उन्होंने कहा कि कालेजों में किसी भी समुदाय की भावनाएं आहत करने वाले व्यक्ति को नहीं घुसने देंगे | तारिक फतह पाकिस्तानी एजेंट है | छात्र सभा के जिलाध्यक्ष रंजीत चौधरी ने कहा कि डीएस कालेज सौहार्द की मिशाल है, हम इसे बदनाम नहीं होने देंगे | भविष्य में भी ऐसे ताकतों के  खिलाफ आन्दोलन जारी रहेगा |

इस अवसर पर सपा छात्र नेता जियाउर्रहमान, एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष अनुशेष शर्मा, सछास जिलाध्यक्ष रंजीत चौधरी, छात्र नेता किरनपाल सिंह, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष हनी यादव, पंडित विशाल गौतम, कांग्रेस नेता हाजी अरशान खान, समाजसेवी मुजाहिद शेरवानी, नदीम खान, सुनील यादव , सुमित बघेल, अमित ठाकुर, दीपक वर्मा, सलमान, आरिफ, गौरव शर्मा, अरबाज खान, इकबाल शमशाद, शुभम सिंह, मनोज सिंह, सूरज सिंह, मानेश यादव आदि छात्र मौजूद रहे |

“तारिक फतह का कार्यक्रम निरस्त होने की जानकारी मिली है | यह छात्रों की जीत है | कालेजो को सांप्रदायिक ताकतों का अड्डा नहीं बनने दिया जायेगा | सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वालो के खिलाफ आवाज़ उठाते रहेंगे”- जियाउर्रहमान, छात्र नेता सपा