अलीगढ : मेयर चुनाव से पहले ही सपा दो फाड़, मुजाहिद के नामांकन से दूर रहे अज्जू

अलीगढ । समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव भले ही यूपी के निकाय चुनाव में अपार सफलता की कोशिशों में लगे हो। लेकिन स्थानीय स्तर पर गुटबाजी खुलकर सामने आ रही है । अलीगढ से मेयर के प्रत्याशी घोषित किये गए मुजाहिद किदवई के नामांकन से सपा के महानगर अध्यक्ष अज्जू इस्हाक़ की दूरी चर्चाओं का विषय बनी हुई है । माना जा रहा है कि राजनैतिक प्रतिद्वंदता के चलते अज्जू और मुजाहिद किदवई में पहले से ही छत्तीस का आंकड़ा है यही कारण है कि अज्जू महानगर अध्यक्ष होते हुए भी नामांकन में नही दिखाई दिए ।

सपा के मेयर प्रत्याशी मुजाहिद किदवई ने शनिवार को शाहजमाल ईदगाह से जुलूस निकाला और कलेक्ट्रेट नामांकन के लिए पहुंचे । इस दौरान उनके साथ सपा के जिलाध्यक्ष अशोक यादव और पूर्व विधायक ज़फर आलम ही उनके साथ नजर आए । अज्जू इस्हाक़ और ख्वाजा हलीम की अनुपस्थिति के लोग तरह तरह के अनुमान लगा रहे हैं । सूत्र तो यह भी कहते हैं कि सपा अब दो फाड़ हो चुकी है ।

राजनैतिक विश्लेषकों का तो यह भी मानना है कि सपा प्रत्याशी घोषित होते ही मुख्य लड़ाई से बाहर हो चुकी है । मुकाबला अलीगढ में भाजपा और बसपा के बीच है ।