अलीगढ़ : मुस्लिम इलाके में BJP का प्रचार कर रहे मुस्लिम नेताओं को SP-BSP नेताओं ने पीटा, जमकर हंगामा, महागठबंधन के 4 नेताओं को जेल

दानिश खान/ अलीगढ़ । लोकसभा चुनाव 2019 में जिले का चुनाव अब धार्मिक रंग ले चुका है। मुस्लिम इलाके में भाजपा का प्रचार करने पहुंचे नेताओं को सपा और बसपा के नेताओं ने न सिर्फ विरोध किया बल्कि योगी और मोदी के खिलाफ नारेबाजी भी की । खबर पर भाजपाइयों में आक्रोश फैल गया और जमकर हंगामा हुआ । रविवार को शहर के मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र जमालपुर में जनसंपर्क कर रहे भाजपाइयों को काले झंडे दिखाए गए। भाजपा नेताओं का आरोप है कि इस दौरान देश विरोधी व योगी-मोदी के खिलाफ नारेबाजी की गई। विरोध करने पर भाजपाइयों के साथ मारपीट की गई। इसमें तीन भाजपाई घायल हुए हैं।

थाना सिविल लाइन पुलिस ने बसपा नेता और पार्षद सद्दाम हुसैन और सपा पार्षद पति असलम नूर, इमरान और फारुख को हिरासत में लेकर जेल भेजा गया है। इलाके में पीएसी तैनात कर दी गई है। इधर दिन में हुई इस घटना से अधिकारियों में खलबली मच गई। स्‍थानीय अधिकारियों ने घटना की जानकारी शासन को दे दी है।

खबर के अनुसार भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के महानगर के अध्यक्ष इमरान सैफी समर्थकों के साथ मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र जमालपुर में पैदल जनसंपर्क कर रहे थे। तभी सपा-बसपा गठबंधन के कार्यकर्ता व समर्थक आ गए। गठबंधन के समर्थकों ने भाजपाइयों को काले झंडे दिखाने शुरू कर दिए। इसका भाजपाइयों ने विरोध किया। कुछ ही देर में दोनों दलों के समर्थक आमने-सामने नारेबाजी करने लगे। देखते ही देखते मारपीट हो गई। इसमें भाजपा से जुड़े कार्यकर्ता व पदाधिकारी घायल हो गए। घटना से भगदड़ गई। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंच गई। अधिकारियों ने लोगों को शांत कर दिया। अलीगढ़ सीट का चुनाव अब हिन्दू-मुस्लिम पर आकर टिक गया है । खबर लिखे जाने तक स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है । जेल के गेट पर सपा, बसपा और रालोद के।कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन जारी था ।