अलीगढ : स्मार्ट सिटी बनाने के खोखले दावे, इतिहासकार इरफान हबीब के घर के सामने कूढ़े का ढेर-जलभराव, देखें वीडियो

अलीगढ | महानगर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए स्वच्छता और अन्य तरह के कई अभियान इन दिनों नगर निगम चला रहा है लेकिन नगर निगम के यह अभियान सिर्फ दिखावा साबित हो रहे हैं | नगरायुक्त और मेयर मौ फुरकान के सफाई के दावों को मेयर के आवास के पीछे की बदरबाग कॉलोनी हवा हवाई साबित कर रहे हैं | विश्वविख्यात इतिहासकार इरफान हबीब के घर के आगे ही कूढ़े के ढेर और जलभराव ने नगर निगम की पोल खोल दी है | पिछले करीब एक माह से अंतरराष्ट्रीय स्तर के इतिहासकार के घर के सामने पानी का भराव और कूढ़े के ढेर लगे हैं लेकिन निगम कोई सुध लेने को तैयार नहीं है | यह हालत तब हैं जब इरफ़ान हबीब के घर से आधा किलोमीटर की दूरी पर ही शहर के मेयर मौ फुरकान का घर है | शहर के हालात क्या होंगे आप स्वंय अंदाजा लगा सकते हैं ?

बताते चलें कि शहर के सिविल लाइन स्थित बदरबाग कॉलोनी में अमुवि के प्रोफेसर और विश्वविख्यात इतिहासकार इरफान हबीब का घर है | यह कॉलोनी शहर की वीआइपी कॉलोनी में शुमार है | यहाँ से करीब 500 मीटर की दूरी पर ही शहर में मेयर मौ फुरकान का शमशाद मार्केट पर घर है | इतिहासकार इरफान हबीब के घर के मुख्यद्वार पर जलभराव की स्थिति पिछले करीब एक माह से है वहीँ कूढ़े के ढेर भी लगे हैं | जलभराव से इतिहासकार सहित लोगो को आवागमन में दिक्कत हो रही है लेकिन निगम के कर्मचारी और अफसर सुध लेने को तैयार नहीं है | आपको बताते चलें कि शहर के नगरायुक्त संतोष कुमार शर्मा और मेयर मौ फुरकान सफाई के बड़े बड़े दावे कर रहे हैं लेकिन बदरबाग में यह दावे खोखले साबित हो रहे हैं |

अलीगढ शहर स्मार्ट सिटी के लिए चयनित हुआ है जिसके अंतर्गत करोडो रूपये अभियान और स्मार्ट सिटी के नाम पर खर्च किये जा रहे हैं | शहर में सफाई की व्यवस्था ठीक न होने और जलभराव की समस्या ने अफसरों के इन दावो पर प्रश्नचिन्ह खडा कर दिया है ? व्यवस्था दर्पण ने जब इतिहासकार इरफान हबीब के घर के सामने कूढ़े और जलभराव को लेकर नगरायुक्त संतोष कुमार शर्मा से बात की तो उन्होंने नगर निगम की टीम लगाकर तत्काल समस्या का निस्तारण कराने और सफाई व्यवस्था को सुचारू रूप से कराने की बात कही |