सपा के पूर्व विधायक राकेश सिंह से जेल मिलने पहुंचे अखिलेश के दूत, सरकार पर षडयंत्र का आरोप, न्यायिक जांच की मांग

अलीगढ़ । विदेशी पिस्टल रखने का आरोप लगाकर यूपी एसटीएफ ने जेल भेजे समाजवादी पार्टी के छर्रा से पूर्व विधायक ठाकुर राकेश सिंह से रविवार को सपा सुप्रीमो पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के दूत अलीगढ़ जेल मिलने पहुंचे। चार सदस्यीय विधायको की जांच कमेटी को अखिलेश यादव ने ठाकुर राकेश सिंह प्रकरण की पूरी जानकारी जुटाने, मामले की जांच करने अलीगढ़ भेजा है । कमेटी में पूर्व मंत्री ओंकार सिंह यादव, विधायक राकेश प्रताप सिंह, विधायक राजू यादव और विधायक अमिताभ वाजपेयी शामिल हैं । सपा कार्यकर्ताओं में पूर्व विधायक के प्रकरण की जांच के लिए आप सुप्रीमो द्वारा कमेटी भेजने से उत्साह है ।

रविवार को चारों विधायको की जांच कमेटी अलीगढ़ पहुंची और पूर्व विधायक के परिजनों से मिलकर मामले की जानकारी जुटाई और परिजनों को न्याय की लड़ाई में हर स्तर पर साथ रहने का आश्वासन दिया । जांच कमेटी के आने की सूचना पर सैंकड़ो सपाई भी पूर्व विधायक जफर आलम, जिलाध्यक्ष अशोक यादव और महानगर अध्यक्ष जावेद अजीज के नेतृत्व में एकत्रित हो गए । सैंकड़ो लोगो की भीड़ के साथ जांच कमेटी जेल में पूर्व विधायक से मिलने पहुंची । ठाकुर राकेश सिंह से मिलकर पूरे प्रकरण को जान और कई अहम बिंदुओं पर चर्चा भी की । जेल से बाहर आते ही जांच कमेटी में शामिल सपा के दिग्गज नेता और विधायक अमिताभ वाजपेयी ने मीडिया से वार्ता कर योगी सरकार को घेरा । उन्होंने कहा कि ठाकुर राकेश सिंह निडर समाजवादी नेता हैं, जो सरकार की नीतियों के खिलाफ लड़ रहे थे । उन्होंने कहा कि शासन ने षडयंत्र के तहत पूर्व विधायक को फंसाया है, पूर्व विधायक को जेल में लोगो से मिलने नही दिया जा रहा है ,उनके स्वास्थ्य का ख्याल नही रखा जा रहा है । उन्होंने कहा कि जेल में सफाई व्यवस्था खराब है, मच्छरों के आतंक है । अमिताभ वाजपेयी ने पूरे प्रकरण की न्यायिक जांच की मांग भी की । पूरे प्रकरण की रिपोर्ट सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव को सौंपने की बात कही ।

जांच कमेटी के सदस्य विधायक राकेश प्रताप सिंह ने कहा कि समाजवादी लोगो का संघर्ष का इतिहास रहा है, पूर्व विधायक को जानबूझकर फंसाया गया है । समाजवादी पार्टी पूर्व विधायक के साथ है, अखिलेश यादव जी को रिपोर्ट सौंपेंगे । उन्होंने कहा कि हाईकमान का निर्देश मिलते ही बड़े स्तर पर आंदोलन भी किया जाएगा । सपा की जांच कमेटी ने प्रथम दृष्टया योगी सरकार को दोषी माना है और भविष्य में राकेश प्रकरण को लेकर बड़े आंदोलन के संकेत दिए हैं ।

अब देखना यह है कि जांच कमेटी की रिपोर्ट के बाद अखिलेश यादव क्या एक्शन लेते हैं । क्या सपा पूर्व विधायक के खिलाफ चल रही साजिशों के खिलाफ सड़क पर उतरेगी यह भी सवाल बना हुआ है ।