अलीगढ़ : लिंग परीक्षण करते रंगेहाथ पकड़ी गईं जीवन हॉस्पिटल की डॉ दिव्या, योगी के सख्त निर्देश के बाद भी डॉक्टर के पक्ष में पहुंचे भाजपा विधायक

अलीगढ़ | शहर में लिंग परीक्षण के नाम पर चल रहे गोरखधंधे का सोमवार को राजस्थान की एक विशेष टीम ने भंडाफोड़ कर दिया | प्रतिष्ठित जीवन हॉस्पिटल एंड टेस्ट ट्यूब बेबी सेण्टर में संचालिका डॉ दिव्या चौधरी को राजस्थान की टीम ने रंगेहाथ पकड़ लिया | पहले से ही अलीगढ़ के डीएम के संज्ञान में डालकर कार्यवाही के लिए पहुंची राजस्थान की टीम से हॉस्पिटल के स्टाफ ने अभद्रता भी की | अलीगढ़ पुलिस और राजस्थान की टीम डॉ दिव्या के पति डॉ जयंत शर्मा को थाना क्वार्सी ले आई | लिंग परीक्षण करते रंगेहाथ पकडे गए डॉक्टर के समर्थन में शहर भर के डॉक्टर इकठ्ठा हो गए और थाने का घेराव किया | देर रात्री तक डॉक्टर आरोपी के समर्थन में डटे रहे और हड़ताल पर जाने की धमकी दी | इतना ही नहीं लिंग परीक्षण पर सख्त योगी सरकार ने सूचना देने वाले को यूपी में एक लाख रूपये ईनाम देने की घोषणा कर रखी है | बावजूद इसके भाजपा के दो दो विधायक आरोपी डॉक्टर के समर्थन में थाने पर देर रात्रि तक जमे रहे |

राजस्थान की टीम ने की कार्यवाही-
राजस्थान के स्वास्थ्य विभाग की टीम को अलीगढ़ में लिंग परीक्षण की सूचनाएं मिल रही थी | स्वास्थ विभाग की टीम ने एक महिला के माध्यम से दलाल पकड़ा और पीछा करते करते अलीगढ़ के सुरेन्द्र नगर स्थित जीवन हॉस्पिटल तक आ गयी | टीम ने यहाँ प्रशासन को सूचना दी और पुलिस फाॅर्स भी साथ ले लिया | टीम ने रंगेहाथ डॉक्टर दिव्या को लिंगपरीक्षण करते पकड लिया | छापे की सूचना से हडकंप मच गया | अस्पताल के कर्मचारियों न टीम से अभद्रता भी की | टीम ने उपकरणों को सीज कर दिया है | डॉ दिव्या हॉस्पिटल से चली गयीं और उनके पति डॉ जयंत से भी टीम की नोकझोंक हुई | पुलिस डॉ जयंत को थाना क्वार्सी ले आई जहां सूचना मिलते ही शहरभर के डॉक्टर इकठ्ठा हो गए |

डॉक्टर बोले राजनैतिक साजिश –
जीवन हॉस्पिटल के संचालक डॉ जयंत शर्मा ने छापेमारी को राजनैतिक साजिश बताया है | उन्होंने कहा कि वह अलीगढ़ मेयर पद का चुनाव लड़ना चाहता हूँ, दावेदारी कर रहा हूँ । इसीलिए विरोधियों ने साजिश कर मेरे हास्पिटल को निशाना बनवाया है। रेडियोलॉजी विभाग में घुसकर कीमती मशीनें तोड़ी गई हैं। कन्या भ्रूण की जांच का कोई मामला नहीं है। कुछ दिन पहले भी ऐसे ही लोग आए थे, तब भी ऐसी कहानी रचने की कोशिश की थी, इसके साक्ष्य मौजूद हैं। मुझे और मेरी पत्नी को बदनाम करने की साजिश है।

भाजपा विधायको ने आरोपी डॉक्टर के समर्थन में डाला डेरा-
भाजपा के सीएम योगी अदित्र्यानाथ और सरकार लिंगपरीक्षण को लेकर बेहद गंभीर है | योगी सरकार ने तो सूचना देने पर ईनाम की भी व्यवस्था कर रखी है लेकिन इसके बावजूद आरोपी डॉक्टर को छुडवाने के लिए भाजपा के दो दो विधायक देर रात्री तक थाने में जमे रहे | विधायक संजीव राजा, विधायक अनिल पाराशर थाना क्वार्सी में राजस्थान की टीम और अलीगढ़ प्रशासन को मैनेज करते रहे | दोनों ओर से मुकदमा दर्ज करने के लिए तहरीर दी गई, लेकिन रात साढ़े बारह बजे तक तस्वीर साफ नहीं हुई थी। प्रशासनिक टीम डा. जयंत शर्मा और उनकी पत्नी डा. दिव्या चौधरी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने और उनको राजस्थान की टीम के सुपुर्द करने पर अड़ी रही। डाक्टर पक्ष से जुटे शहर विधायक संजीव राजा, कोल विधायक अनिल पाराशर और डाक्टरों की लॉबी इस तरह के आरोप में थाने में मुकदमा दर्ज नहीं कराने और नियमानुसार कार्रवाई पर अड़े रहे।

योगी सरकार सूचना देने पर देती है एक लाख का ईनाम –
अलीगढ़ के सीएमओ डा. एमएल अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कन्या भ्रूण लिंग की जांच करने वाले डाक्टर या नर्सिंग होम संचालक की जानकारी देने पर एक लाख रुपये का ईनाम तय कर रखा है, लेकिन आज तक जिले में ऐसी एक भी सूचना किसी ने नहीं दी है। कन्या भ्रूण की हत्या करना, उसकी जांच करना दोनों कानूनी अपराध हैं। इस पर बेहद सख्त कार्रवाई होती है। जीवन हास्पिटल के मामले की जांच चल रही है।
एसपी सिटी बोले, “जांच जारी है” –

एसपी सिटी अतुल कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि राजस्थान से आई टीम ने अपने आला अधिकारियों और कानूनी विशेषज्ञों की राय ली। उन्होंने पाया कि इस मुकदमे में सात साल से कम की सजा का प्रावधान है। इसलिए गिरफ्तारी नहीं की जा रही है। हॉस्पिटल रेडियो लॉजी यूनिट पर लगी सील जारी रहेगी। फिलहाल डॉक्टर दंपति को छोड़ दिया गया है। राजस्थान की टीम अभी अलीगढ़ में ही रुकी हुई है। जांच जारी है।