AMU बवाल के बाद सहमा अलीगढ़, यूनिवर्सिटी के समर्थन में कई जगह प्रदर्शन, तनावपूर्ण शांति कायम

अलीगढ़। एएमयू में रविवार रात बवाल होने के बाद सोमवार को दिनभर शहर सहमा रहा। सुबह से ही मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में जगह-जगह लोग एकत्रित होने लगे। नागरिकता बिल के विरोध और एएमयू छात्रों के समर्थन में लोग प्रदर्शन करने लगे। इससे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को दिनभर भागदौड़ करनी पड़ी। फोर्स को भी मशक्कत करनी पड़ी।

सोमवार सुबह जब लोगों को पता चला कि रविवार रात एएमयू में बवाल हुआ है और एएमयू को बंद कर हास्टल खाली कराए जा रहे हैं तो हैरान रह गए। हालांकि हिन्दू इलाकों में इसका कोई फर्क नहीं पड़ा, लेकिन मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में हलचल होने लगी। ऊपरकोट स्थित घास की मंडी और खैर रोड पर सुबह खुली परचून व सब्जियों की दुकान से हाथों हाथ राशन सामग्री व सब्जियां बिक गईं। वहीं दूसरी तरफ धीरे-धीरे लोग एएमयू छात्रों के समर्थन में आने लगे। शाहजमाल में तो तमाम लोगों के साथ महिलाएं भी खुलकर नागरिकता बिल का विरोध करने के साथ एएमयू छात्रों का समर्थन करने लगीं।

विरोध व समर्थन की यह चिंगारी शाहजमाल तक ही सीमित नहीं रही, बल्कि दोदपुर, धौरा माफी, जमालपुर, शमशाद मार्केट आदि इलाकों तक पहंुच गई। मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में भीड़ जुटने से शहरवासी सहम गए। फूल चौराहा स्थित सर्राफा बाजार में सुबह खुली दुकानें भी बंद हो गईं। ऊपरकोट जामा मस्जिद पर भी न तो फड़ सजीं और न दुकानें खुलीं। हर तरफ सन्नाटा पसरने लगा। शहर में तरह-तरह की अफवाहें फैलने लगीं। डीएम चंद्रभूषण सिंह, एसएसपी आकाश कुलहरि, एडीएम सिटी राकेश मालपाणी, एसपी सिटी अभिषेक कुमार समेत तमाम अफसर दिनभर भागदौड़ करते रहे, मगर शहर में तनाव कम नहीं हुआ। हालातों पर काबू पाने के लिए प्रशासनिक अमला जुटा हुआ है। अब हालात काबू में हैं । पुलिस शहर में तैनात है ।