अलीगढ़ : बेसवां में जन्‍मे हरिदत्त शर्मा को मिलेगा महर्षि व्यास पुरस्कार

अलीगढ़। Aligarh के बेसवां में जन्मे प्रोफेसर हरिदत्त शर्मा को महर्षि व्यास पुरस्कार से नवाजा जाएगा। उन्हें यह पुरस्कार लखनऊ में सात फरवरी को उत्तर-प्रदेश संस्कृत संस्थान की ओर से राज्यपाल प्रदान करेंगे। बेसवां में जन्मे संस्कृत के ख्याति प्राप्त विद्वान प्रोफेसर हरिदत्त शर्मा इलाहाबाद विश्वविद्यालय में संस्कृत विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष रहे हैं। वह देश-विदेश में संस्कृत के क्षेत्र में उच्चस्तरीय योगदान देने व संस्कृत का प्रचार प्रसार कर रहे हैं। इसी के लिए उन्हे यह पुरस्कार दिया जाएगा।

प्रोफेसर शर्मा ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय में गत 43 वर्षों के अध्यापन काल में 28 शोध कार्य सम्पन्न हो चुके हैं। 12 ग्रन्थों का लेखन कार्य किया है। प्रो0 शर्मा के प्रमुख ग्रन्थ गीत कन्दलिका, त्रिपथगा,उत्कलिका, बालगीताली, लसल्लिका आदि हैं। प्रो0 शर्मा को 2015 में राष्ट्रपति सम्मान, अनेकों बार संस्कृत साहित्य लेखन कि लिए उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान, दिल्ली संस्कृत अकादमी, साहित्य अकादमी दिल्ली आदि के द्वारा सम्मान प्राप्त कर चुके हैं। पूर्वी जर्मनी, फ्रांस, इंग्लैण्ड, अमेरिका, जापान, नीदरलैण्ड, मलेशिया, इटली आदि 15 देशों में शैक्षणिक सांस्कृतिक यात्रा कर चुके हैं।

प्रो. हरीदत्त शर्मा को सम्मानित किये जाने की खबर पर उनके बडे़ भाई बैद्य बनवारीलाल शर्मा परिजनों समेत Aligarh के कस्बा बेसवां के लोगों को खुशी जाहिर की है।

-एजेंसी