अलीगढ़ : ‘नुमाइश’ का मंत्री सुरेश राणा ने किया शुभारम्भ, लोगों में उत्साह

अलीगढ | राजकीय औद्योगिक एवं कृषि प्रदर्शनी ‘नुमाइश’ का जोर शोर से शनिवार को शुभारम्भ हो गया | गत वर्ष चुनाव के चलते नुमाइश का आयोजन नहीं हो सका था, इसलिए दो वर्ष बाद नुमाइश लगी है | सूबे में मंत्री सुरेश राणा ने मित्तल गेट पर फीता काटकर शुभारम्भ किया | अलीगढ महोत्सव के रुप में लगी 137वीं नुमाइश के उद्घाटन पर मुख्य अतिथि जिले के प्रभारी मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि नुमाइश में जनता के मनोरंजन के साथ ही जिले की औद्योगिक व कृषि प्रगति की भी झलक दिखाई देगी।

यहाँ अतिथियों ने कबूतर व गुब्बारे भी उडाये । उद्घाटन समारोह के दौरान स्कूली बच्चों गणेश वंदना व सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। कार्यक्रम कृष्णांजलि नाट्यशाला परिसर में हुए। कार्यक्रम में सांसद अलीगढ़ सतीश गौतम, सांसद एटा राजवीर सिंह, के अलावा जिले के सातों विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष उपेन्द्र सिंह नीटू, कमिश्नर सुभाष चंद्र शर्मा, आईजी डा. संजीव गुप्ता, डीएम ऋषिकेश भास्कर यशोद,एसएसपी राजेश कुमार पांडेय, एडीएम सिटी एसबी सिंह और आरएएफ कमाण्डेंट हिलाल फिरोज मौजूद रहे।

इस बार है नुमाइश का 138वां आयोजन
अलीगढ में लगने वाली इस प्रदर्शनी का प्रारंभ वर्ष 1880 में राजा हरनारायण सिंह की प्रेरणा से अलीगढ़ डिस्ट्रिक्ट फेयर के नाम से अश्व प्रदर्शनी के रूप में तत्कालीन कलेक्टर मार्शल द्वारा किया गया। वर्ष 1886 में डिस्ट्रिक्ट फेयर में अलीगढ़ की प्रशिक्षण एवं शैक्षिक ज्ञान का समावेश हो जाने के कारण इसका नाम राजकीय औद्योगिक एवं कृषि प्रदर्शनी रख गया। सन् 1914 में तत्कालीन कलेक्टर डब्लूएस मैरिस ने दरबार हाल बनवाकर अश्व प्रदर्शनी को एक संगठित रूप दिया। कालांतर में यहां दरबार हाल के साथ लाल ताल, नीरज शहरयार पार्क के साथ कृष्णांजलि एवं कोहिनूर मंच ने इस प्राचीन प्रदर्शनी को भव्यता प्रदान की है।