अलीगढ़ : डीएम की कुर्सी पर महिलाओ का कब्जा, मेज पर फेंके चूड़ी और पेटीकोट, योगी राज में न्याय के लिए धरने पर दलित

अलीगढ । दलितों को न्याय देने की बात करने वाले भाजपा सीएम योगी आदित्यनाथ के राज में अब कई सप्ताह से कलेक्ट्रेट पर बैठे कोरी समाज के लोगो को न्याय नही मिल पा रहा है । सोमवार को दलित समाज के लोगो का धैर्य जवाब दे गया और धरने में आई महिलाओं सहित लोगो ने कलेक्ट्रेट के सामने रोड जाम कर दिया । दलित युवक नितिन माहौर के हत्यारों को सजा देने और नितिन के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की ।

योगी सरकार के खिलाफ लोगो ने जमकर नारेबाजी की । प्रदर्शनकारियों और पुलिस में तीखी झड़प भी हुई । गुस्साई महिलाएं डीएम के दफ्तर में घुस गईं और उनकी कुर्सी पर कब्जा कर लिया । डीएम की मेज पर चूड़ियां और पेटिकोट फेंका। सुबह से ही कोरी समाज के पुरुष और महिलाएं आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कलक्ट्रेट पर धरना देने पहुंचे थे । पुलिस ने हालांकि कलेक्ट्रेट परिसर में भारी फोर्स तैनात किया हुआ था लेकिन सब बेअसर रहा । जाम के बाद भी जब कोई अधिकारी सुनने नही आया तो महिलाएं डीएम के दफ्तर में घुस गईं और जमकर हंगामा किया। उस दौरान कुछ महिलाओं ने डीएम की मेज पर चूड़ियां और पेटीकोट फेंक दिया और खुद डीएम की कुर्सी पर बैठ गई। जब अधिकरियों ने उन्हें हटाने का प्रयास किया तो, एसपी सिटी और सिटी मजिस्ट्रेट से उनकी नोकझोंक हो गई। इसके बाद भी महिलाएं नहीं रुकी और अन्य महिलाएँ गेट के बाहर जमकर नारेबाजी करने लगीं।

अलीगढ़ में भाजपा के सात विधायक और एक सांसद हैं लेकिन दलित युवक को न्याय दिलाने के लिए कोई भी आगे नही आया है । भाजपा के खिलाफ नितिन माहौर हत्याकांड से दलितों में आक्रोश पनप रहा है । जल्द ही यह आक्रोश बड़े स्तर पर दिखाई दे सकता है ।