अलीगढ : क्रिसमस डे का विरोध हिंदुवादियों को पड़ा भारी, योगी सरकार ने की कार्यवाही

अलीगढ |भाजपा की सरकार आने से अति उत्साहित दिख रहे हिंदुवादियों को योगी सरकार ने आइना दिखा दिया है | हिंदूवादी नेताओं द्वारा क्रिसमास डे का विरोध करना जब राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर गूंजा तो मोदी और योगी सरकार सकते में आ गयी | भाजपा से लेकर सरकार और आरएसएस तक ने कथित हिंदुवादियों से पल्ला झाड लिया | हिन्दू जागरण मंच के नेताओं पर योगी सरकार ने कार्यवाही करते हुए लाख लाख रूपये में पाबंद कर दिया | अब हिंदू बहुल स्कूलों में क्रिसमस का त्यौहार मनाने का विरोध कर रहे हिंदू जागरण मंच के नेता अलग-थलग पड़ गए है। इस मामले में पांच नेताओं को प्रशासन द्वारा नोटिस दिया गया है। सरकार के रुख को देखते हुए अब हिंदूवादी असहज हो गए हैं और मौन साध लिया है | अपनी सरकार होने के चलते कुछ भी कहने से बच रहे हैं |

विदित हो कि हिंदू जागरण मंच के महानगर अध्यक्ष सोनू सविता और अन्य नेताओं ने क्रिसमस डे स्कूलों में न बनाने देने का एलान किया था जिसपर राष्ट्रीय और विदेशी मीडिया तक ने संज्ञान लिया | इसाई समुदाय सहित देश के अन्य विपक्षी दलों ने भी इसकी भर्त्सना की तो सरकार हरकत में आई और हिंदुवादियों से किनारा कर लिया | भाजपा और आरएसएस ने भी हिन्दू जागरण मंच के नेताओं की निंदा कर दी | सरकार के हरकत में आते ही पुलिस ने भी सोनू सविता सहित्य महानगर महामंत्री पुनीत शर्मा, मंत्री बबलू सैनी, विभाग संयोजक अमित राजा, प्रदेश मंत्री युवा वाहिनी संजू बजाज को लाख से ऊपर के मुचलके में पाबंद कर दिया | प्रशासन की कार्यवाही से अब हिंदूवादी असहज हैं और मौन साधे हुए हैं |

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ एवं भाजपा द्वारा इस प्रकरण से किनारा करने के बाद हिंदू जागरण मंच के नेता अलग-थलग पड़ गए हैं। स्कूलों में हर्षोल्लास के साथ त्यौहार मनाया जा रहा है। स्कूल संचालकों ने भी मंच नेताओं की चेतावनी को गंभीरता से नहीं लिया। मंच के नेताओं का भी स्वर बदल गया है और वह अब चेतावनी को निवेदन बता रहे हैं। बताते चलें कि आरएसएस के ब्रज प्रांत के संघचालक जगदीश वशिष्ठ ने बयान जारी किया था कि संघ मानता है कि देश में सभी पंथों एवं संप्रदायों को अपने विश्वास के अनुसार उपासना करने का अधिकार है। सभी मत एवं संप्रदाय के लोगों को त्यौहार, उत्सव आदि अपनी मान्यता के अनुसार मनाने का पूरा अधिकार है तथा संघ उसमें किसी भी प्रकार के हस्तक्षेप का समर्थक नहीं है। भाजपा जिलाध्यक्ष चौधरी देवराज सिंह ने भी मंच के बयान का समर्थन नहीं किया था।