अलीगढ : बसपा पार्षद की तहरीर पर भाजपाइयों के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज, पुलिस ने लूट का जिक्र हटवाया

अलीगढ | बसपा के नवनिर्वाचित मेयर मो फुरकान के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में हुए बवाल और तांडव का मामला अभी तक शांत नहीं हो रहा है | भाजपा की ओर से बसपा के पार्षद मुशर्रफ मजहर पर धार्मिक उन्माद फ़ैलाने का मामला दर्ज होने के बाद अब पुलिस ने बसपा पार्षद की तरफ से भी रिपोर्ट दर्ज की है | हालांकि पुलिस ने पार्षद से लूट का जिक्र हटाने के बाद दूसरी तहरीर पर मुकद्दमा दर्ज किया है | भाजपाइयों के खिलाफ मुकद्दमा होने से मामला गरमाने के आसार बड गए हैं | आज भाजपा की तरफ से भी प्रतिक्रिया मिल सकती है | बसपा खेमा रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए अड़ा हुआ था |

बसपा के पार्षद मुशर्रफ मजहर की तहरीर पर थाना बन्नादेवी पुलिस ने आईपीसी की धारा 147,295,323,506, 504 में मामला दर्ज किया है | पार्षद ने रिपोर्ट में भाजपाइयों द्वारा मारपीट करने, तमाचा कनपटी पर रखकर धमकाने और धार्मिक उन्माद फ़ैलाने का जिक्र किया है | बसपा पार्षद ने भाजपाइयों से जान का ख़तरा भी बताया है | बताते चलें कि बसपा पार्षद ने 12 दिसम्बर को तहरीर में ग्यारह हजार तीन सौ रूपये लूटने का भी जिक्र किया था लेकिन शुक्रवार को लिखे मुकद्दमे में इसका जिक्र नहीं है | बसपा पार्षद मुशर्रफ ने इस बाबत बताया कि पुलिस ने लूट का जिक्र हटाने का आग्रह किया था जिसे हमने हटा दिया है |

सूत्रों का कहना है कि सत्ता के इशारे पर बसपा पार्षद पर दवाब डालकर पुलिस ने लूट का जिक्र हटवाया है ताकि संगीन धरा के हटने से भाजपाइयों की गिरफ्तारी से बचा जा सके | लूट की धारा में मुकद्दमा दर्ज होने से भाजपाइयों की गिरफ्तारी से नया बखेड़ा हो सकता था | अब शपथ ग्रहण कार्यक्रम में हुए बवाल के मामले में भाजपा और बसपा दोनों की तरफ से रिपोर्ट दर्ज हो गयी है | शहर में मामले को लेकर राजनीति गरमाई हुई है |