अलीगढ़ में BJP नेताओं ने महिला DSO से की अभद्रता, पुलिस ने भेजा जेल, हंगामा कर रहे भाजपाइयों पर फटकारी लाठियां

अलीगढ़ । भाजपा सरकार में भाजपा नेता ही अपने अफसरों पर आरोप लगा रहे हैं, इतना ही नही खुद की ही सरकार में विरोध और प्रदर्शन कर रहे हैं । वहीं अफसर भी भाजपाइयों पर अभद्रता और मारपीट जैसे आरोप लगा रहे हैं । मंगलवार को बन्नादेवी थाना क्षेत्र के रसलगंज में मंगलवार को राशन कार्ड बनबाने को लेकर भाजपाइयों की खाद निरीक्षक से नोकझोंक हो गई। मामला थाने तक पहंुचा तो पुलिस ने भाजपा नेता और कार्यकर्ता को शांतिभंग में पाबंद कर दिया। जेल भेजने पर भाजपाई विरोध में उतर आए। जेल के गेट पर पुलिस और भाजपाइयों में धक्का-मुक्की हो गई। पुलिस ने लाठीचार्ज कर कार्यकर्ताओं को खदेड़ दिया।

खबर के अनुसार अनुसार सराय हकीम निवासी हर्षद वाष्र्णेय भाजपा कार्यकर्ता हैं। पीड़ित के मुताबिक मंगलवार को वह रसलगंज स्थित खाद पूर्ति निरीक्षक कार्यालय में राशन कार्ड बनबाने गए थे। आरोप है कि वहां मौजूद कर्मचारियों ने राशन कार्ड बनाने के नाम पर तीन सौ रुपये मांग लिए। इस बात का विरोध किया तो कहासुनी हो गई। इसके बाद वह घर वापस चल दिए। रास्ते में पहंुचते ही भाजपा नेता राजेन्द्र वाष्र्णेय चीफ मिल गए। हर्षद ने पूरा वाकया उन्हें बताया तो वह खाद निरीक्षक कार्यालय पहंुच गए। भाजपा नेता राजेन्द्र वाष्र्णेय चीफ की प्रभारी जिला पूर्ति अधिकारी खाद पूर्ति निरीक्षक इंस्पेक्टर स्मृति गौतम से नोकझोंक हो गई। मामला बढ़ा तो इंस्पेक्टर ने डीएम को पूरा वाकया बता दिया। सूचना मिलते ही इलाका पुलिस मौके पर पहंुच गई। पुलिस दोनों को थाने लेकर आ गई। वहां पुलिस ने राजेन्द्र वाष्र्णेय और कार्यकर्ता हर्षद को शांतिभंग में पाबंद कर दिया। देर शाम पुलिस ने दोनों को एसीएम के समझ पेश किया। यहां से दोनों को जेल के लिए रवाना किया तो भाजपा कार्यकर्तर पहले दोनों का डाक्टरी परीक्षण कराने की मांग पर अड़ गए ।

प्रभारी जिला पूर्ति अधिकारी स्मृति गौतम के मुताबिक हर्षद वार्ष्णेय, उनके बड़े भाई और एक मीडिया कर्मी उनके पास आए।उन्होंने राशन कार्ड का आवेदन देकर कहा कि इसको अभी बनना है। इस पर खुद स्मृति ने जवाब दिया कि नियमानुसार आवेदन करेंगे और जांच रिपोर्ट लगने के बाद ही कार्ड बनेगा। इतना सुनते ही गहमागहमी शुरू हो गई। वह तीनों वापस चले गए और कुछ देर बाद भाजपा नेता राजेंद्र चीफ को साथ लेकर आ गए। चीफ ने आकर अभद्र गालीगलौज की। चतुर्थ श्रेणी कर्मी से मारपीट की। सीधे उनको निलंबित कराने की धमकी दी। गालीगलौज करने के दौरान उनके ड्राइवर ने वीडियो बनाया तो उसको भी गाली देने लगे। वीडियो में पूरी रिकार्डिंग मौजूद हैै।

हाथापाई होने पर लाठी फटकार कर BJP कार्यकर्ताओं को खदेड़ा-

दोनों को जेल में दाखिल करने के दौरान जेल के गेट पर भाजपाइयों की पुलिसकर्मियों से धक्का-मुक्की होने लगी। करीब एक घंटे तक हंगामा होता रहा। सूचना मिलते ही सिविल और बन्नादेवी थाने का पुलिस फोर्स मौके पर पहंुच गया। पुलिस ने लाठीचार्ज कर कार्यकर्ता को खदेड़ दिया। दो कार्यकर्ता चुटैल भी हो गए। बाद में पुलिस ने दोनों को जेल भेज दिया।