अलीगढ : खुद का वार्ड भी नही जिता पाए सपा अध्यक्ष अज्जू, गाज गिरना तय

अलीगढ । मेयर चुनाव खत्म होने के बाद अब राजनैतिक दलों ने समीक्षा करना शुरू कर दिया है । समाजवादी पार्टी मेयर चुनाव में गुटबाजी के चलते अपनी जमानत भी नही बचा पाई । पार्षद भी बमुश्किल सपा 8 सीटो पर ही जिता पाई । सपा के महानगर अध्यक्ष अज्जू इस्हाक़ 50 सीटो पर पार्षद जिताने का दावा कर रहे थे लेकिन खुद का वार्ड भी वह नही जिता सके । अब समाजवादी पार्टी का एक खेमा खुलकर अज्जू के विरोध में उतर आया है ।

बताते चलें कि नगर निगम का वार्ड 58 अज्जू इस्हाक़ का ग्रह वार्ड हैं और उन्होंने सपा से आमिर अली खान को पार्षद उम्मीदवार बनाया था । वहीं कांग्रेस ने इस वार्ड से नफीस शाहीन को उम्मीदवार बनाया था । परिणाम आने के बाद नफीस शाहीन ने अज्जू के करीबी आमिर को 102 वोट से शिकस्त दे दी । नफीस शाहीन को 802 और सपा के आमिर को 699 वोट मिले । अज्जू इस्हाक़ खुद के ही वार्ड में सपा को नही जिता सके जबकि वह 50 से अधिक पार्षद जिताने का दावा कर रहे थे ।

अब अज्जू के वार्ड में ही सपा के हारने से शहर में उनका खुलकर विरोध हो रहा है । युवजन सभा नेता नाज़िम ने तो अज्जू का पुतला भी फूंक दिया । अज्जू को हटाने की मांग तेज हो गयी । सपा में अंदरूनी कई बड़े नेता अब अज्जू पर कार्यवाही कल लेकर हाईकमान को लिख चुके हैं । माना जा रहा है कि जल्द ही मेयर चुनाव में सपा की हार का खामियाजा अज्जू को भुगतना पड़ सकता है । सपा से जुड़े सूत्रों की माने तो अज्जू पर गाज गिरना तय है ।

अलीगढ में सपा के दिग्गज नेता राजेश सैनी कहते हैं कि महानगर संगठन की निष्क्रियता से सपा को यह बुरे दिन देखने पड़े हैं । हाईकमान को समीक्षा कर जिम्मेदारों पर कार्यवाही होनी चाहिए ।

अज्जू ने यह किया था दावा-