Aligarh : AIMIM नेताओं ने दिया कांग्रेस प्रत्याशी चौ. बिजेंद्र को समर्थन, कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व विधायक जमीरउल्लाह ने BSP पर लगाया बड़ा आरोप, बोले- ‘रूपये नहीं थे इसलिए पार्टी से निकला’

अलीगढ | बसपा से निष्कासित पूर्व विधायक हाजी जमीरउल्लाह ने कांग्रेस में शामिल होने के बाद अब बसपा नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए हैं | जमीरउल्लाह ने कोर्डिनेटर पर रूपये देने वाली मुर्गियां ढूंढने का आरोप लगाया है | कांग्रेस में शामिल होने के बाद मीडिया से वार्ता करते हुए जमीरउल्लाह ने कहा कि अलीगढ़ के प्रत्याशी चौधरी विजेंद्र सिंह ने किसानों के हर आंदोलन की लड़ाई भाजपा सरकार से लड़ी है, जिलेभर के किसानों की लड़ाई हो या एएमयू के सुलेमान हॉल का प्रकरण हो या बाब-ए- सैयद हो या हरदुआगंज एनकाउंटर की घटना हो सभी पर चौ बिजेंद्र सिंह ने आवाज़ उठाई है | जमीर ने कहा कि रेलवे रोड की घटना हो या फिर सड़क निर्माण का मुद्दा हो या अलीगढ़ में यूनिवर्सिटी बनाने का मुद्दा हो सिर्फ बिजेंद्र सिंह ने ही आवाज़ उठाई है | उन्होंने आव्हान करते हुए कहा कि लगातार काम करने वाले प्रत्याशी चौधरी विजेंद्र सिंह को सभी धर्म के लोग दोबारा से सांसद बना कर राहुल गांधी जी को प्रधानमंत्री बनाने का कार्य करें।

बीएसपी पार्टी से निकाले जाने वाले एक सवाल पर जमीरउल्लाह ने कहा की ‘वहां की मुखिया और कोऑर्डिनेटर केवल मुर्गी ढूंढते हैं जो मोटा पैसा देता रहें, मेरे पार पैसा नहीं था इसलिए मुझे पार्टी से निकाल दिया गया और पैसे के ही बल पर एक अनजान बाहरी आदमी जो अलीगढ़ की एक गली के किसी भी व्यक्तियों को नहीं जानता वह जिले का सांसद का चुनाव लड़ रहा है | जिसको भी बीएसपी की छवि साफ नजर आती है, वे भाजपा के प्रत्याशी को जिताने का काम कर रहे हैं |

पूर्व विधायक के नेतृत्व में हुई मीडिया वार्ता में ओवैसी की पार्टी के नेता सैयद नाजिम अली ने भी कांग्रेस उम्मीदवार विजेंद्र सिंह को समर्थन देने का ऐलान किया । एमआईएम पार्टी के युवा प्रदेश महासचिव सैयद नाजिम अली नेर कहा कि अपने साथियों के साथ चौधरी विजेंद्र सिंह को जिताने के लिए आज हाजी जमीर उल्लाह खान के साथ आए हैं और उनकी पूरी टीम कांग्रेस को जिताने का काम करेगी | इस अवसर पर मौजूद मुश्ताक अहमद, नदीम वासु, फैजान अहमद खान, फरहान सलमानी , इमरान खान, इमरान घोसी, खुर्रम चौधरी , शमीम सिद्दीकी, डॉक्टर शमीम, मोहम्मद नौशाद , मोहम्मद जैन आदि लोग मौजूद रहे।