Aligarh : अफजाल के परिजनों को मिले मुआवजा और सरकारी नौकरी, पुलिसकर्मी भी दें अपना वेतन

अलीगढ़ । मंगलवार को कठपुला पर चेकिंग के दौरान बरौली जवां निवासी अफजाल की पुलिस द्वारा थप्पड़ मारने से सदमे में हुई मौत पर राष्ट्रीय लोकदल ने शोक व्यक्त किया है । चेकिंग के नाम पर भोले-भाले लोगों से ज्यादती करने और परेशान करने पर चिंता जताई है और पुलिस के व्यवहार के प्रति आक्रोश व्यक्त किया है । रालोद नेता जियाउर्रहमान एडवोकेट ने कहा है कि मंगलवार को बेटी की दवा लेने जा रहे बरौली जवां निवासी अफजाल (28) को चेकिंग के नाम पर पुलिस द्वारा थप्पड़ मारना पुलिसिया ज्यादती का प्रमाण है । उन्होंने कहा कि थप्पड़ के सदमे से अफजाल की मौत हुई है, जिसकी जिम्मेदार पुलिस और उसका व्यवहार है । रालोद नेता ने कहा कि पुलिस विभाग और सरकार को नैतिक रूप से अफजाल की मौत की जिम्मेदारी लेते हुए उसके परिजनों को 25 लाख की मदद और सरकारी नौकरी देनी चाहिए । उन्होंने कहा कि डीजीपी, सीएम और राज्यपाल के समक्ष मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग रखेंगे ।

रालोद नेता जियाउर्रहमान ने यह भी कहा कि चेकिंग के नाम पर पुलिस को लोगों के उत्पीड़न बन्द करना चाहिए और जिले के सभी पुलिस कर्मियों को मानवता दिखाते हुए अफजाल की पत्नी और बेसहारा बच्चों को अपने वेतन से कुछ दिन का रुपया दान देना चाहिए ताकि पुलिस का मानवतावादी संदेश लोगों में जा सके । रालोद नेता ने कहा कि राष्ट्रीय लोकदल मृतक परिवार के साथ है और हर स्तर पर इंसाफ की आवाज़ उठाएगा ।