अलीगढ : मृतको के परिवार को 50 लाख देने का प्रशासन ने किया वायदा, फिर भी हुआ उपद्रव, देखे वीडियो

अलीगढ | देश के संवेदनशील शहरों में शुमार अलीगढ में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद जमकर उपद्रव हुआ | रक्षाबंधन के दिन रेलवे रोड पर दिनदहाड़े हुई दो मुस्लिम सगे भाइयों की हत्या के मामले में दोषियों को फांसी की सजा देने और परिवार को मुआवजा देने की मांग नमाज के बाद मुस्लिम समुदाय कर रहा था | चूँकि प्रशासन को शुक्रवार को प्रदर्शन होने की खुफिया जानकारी थी इसलिए काफी फोर्स शहर में जगह जगह तैनात था | एसपी सिटी और एडीएम सिटी मौके पर थे | नमाज के बाद मुस्लिम समुदाय ने जमकर प्रदर्शन किया और दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग की | लोग मृतक के परिवार को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे |

एसपी सिटी अतुल श्रीवास्तव और एडीएम सिटी एसबी सिंह  ने लोगो की मांग को देखते हुए दो मृतक भाइओ के परिवार को 25-25 लाख रूपये देने का वायदा कर दिया | मुआवजे की घोषणा शहर मुफ़्ती खालिद हमीद ने माइक से भी की | शहर मुफ़्ती ने प्रशासन का शुक्रिया भी अदा किया | मुआवजे की घोषणा के बाद सब कुछ सामान्य सा हो गया था |

सूत्र बताते हैं कि मुआवजे की घोषणा के बाद कुछ अराजक तत्वों ने नारेबाजी और प्रदर्शन शुरू कर दिया और बाजार की तरफ चल दिए  | पुलिस के समझाने के बाद भी यह लोग नहीं माने तो पुलिस से धक्का मुक्की हुई | प्रदर्शनकारियों ने जब उग्रता दिखाई दो पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर दिया | उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव शुरू किया तो हालात गंभीर हो गए | देखते ही देखते पुलिस और उपद्रवियों में फायरिंग और पथराव शुरू हो गया | पुलिस ने बमुश्किल हालातों पर काबू पाया | पथराव इतना हुआ कि गलियाँ ईंटो और पत्थरों से भर गई | कई दरोगाओं और पुलिस कर्मियों के गंभीर चोटे आई हैं जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है | पुलिस ने उपद्रवियों की तलाश शुरू कर दी है | शहर में अफवाह फ़ैलाने वालो पर भी कार्यवाही की तैय्यारी की जा रही है |

सवाल यही उठ रहा है कि जब पुलिस ने मुआवजा की मांग मान ली और शहर मुफ़्ती ने शुक्रिया भी जता दिया तो उपद्रव हुआ क्यों ? उपद्रवी कहाँ से आये ? आखिर मकसद क्या था ? अब इन बिन्दुओं पर जांच चल रही है | देखना यह है कि तफ्तीश के बाद जांच में क्या सामने आता है ?