अखिलेश यादव ने पुष्पेंद्र एनकाउंटर को बताया फर्जी, हाईकोर्ट के जज से की जांच कराने की मांग

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पुष्पेंद्र एनकाउंटर मामले में गुरुवार को कहा कि वह सरकार को जगाने की कोशिश कर रहे हैं, पुष्पेंद्र के परिवार के साथ अन्याय हुआ है। उन्होंने दोहराया कि सरकार का रवैया ठीक नहीं है, पूरा झांसी सच जानता है और यह सरकार दोषियों को बचा रही है।

उन्होंने कहा कि पुष्पेंद्र का परिवार न्याय चाहता है, प्रशासन का निष्पक्ष होना जरूरी है। पूर्व सीएम ने एनकाउंटर को फेक करार दिया और कहा कि पुष्पेंद्र की हत्या की गई है। उन्होंने कहा कि यूपी में कानून का नहीं बल्कि जंगलराज है। आम जनता को दुखी किया जा रहा है। अखिलेश ने कहा कि कोई भी सरकार हमेशा नहीं बनी रहती है। उन्होंने पुष्पेंद्र मामले की जांच हाईकोर्ट के सिटिंग जज से कराने की मांग की। बुधवार रात पुष्पेंद्र के गांव से लौट कर पूर्व सीएम झांसी में रुके और सुबह मीडिया से मुखातिब हुए।

अखिलेश यादव ने कहा, ‘पीड़ितों की एफआईआर दर्ज नहीं होती है, चिन्मयानंद मामले में पीड़िता को जेल भेज दिया गया। उन्नाव घटना में पीड़िता को न्याय नहीं मिला, उन्नाव की पीड़िता का परिवार तबाह हो गया।’ आजम खान पर बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा, ‘एक सांसद पर बकरी चोरी का केस दर्ज हो गया।

मऊ जिले में गोलीकांड हुआ, सोनभद्र कांड में कई लोगों की जान गई। पुलिस के टॉर्चर से लोग परेशान हैं।’ उन्होंने कहा कि झांसी मामले में सरकार अपनी जिम्मेदारी ले और दोषियों पर कार्रवाई करे। सपा अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है, पुष्पेंद्र के परिवार को न्याय दिलाने के लिए वह पूरे प्रदेश में आंदोलन छेड़ेंगे। उन्होंने बताया कि जल्द ही साइकिल यात्रा शुरू की जाएगी, वह खुद यात्रा को झंडी दिखाने आएंगे।