मुलायम से अलग हुए अखिलेश के विचार, बोले- नहीं टूटेगा कांग्रेस से गठबंधन

कानपुर। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नेताजी मुलायम सिंह यादव के बयानों को खारिज करते हुए स्पष्ट कर दिया है कि कांग्रेस से समाजवादी पार्टी का गठबंधन जारी रहेगा | कांग्रेस और सपा का गठबंधन नहीं टूटेगा | अखिलेश ने कानपुर के उरई में एक निजी कार्यक्रम के दौरान यह बात कहीं | बताते चलें कि नेताजी ने सपा की हार का कारण कांग्रेस को बताया था | अखिलेश के बयाँ से यह स्पष्ट हो गया है कि नेताजी मुलायम सिंह यादव के विचारों से अब अखिलेश के विचार नहीं मिल पा रहे हैं |

उरई के कालपी और कानपुर में एक निजी कार्यक्रम में पत्नी डिंपल के साथ आए पूर्व सीएम अखिलेश यादव नेताजी मुलायम सिंह के बयान उन्हें सीएम बनाकर भूल की, पर सीधे तो कटाक्ष नहीं किया लेकिन इतना जरूर कहा कि यह सवाल नेताजी से ही पूछो कि आखिर उन्होंने भूल क्यों की। साथ ही कहा कि नेता जी यादव का आशीर्वाद होता तो प्रदेश में सपा की सरकार बन जाती। उनके बिना सरकार बनाना मुश्किल है।भाजपा पर हल्ला  बोलते हुए उन्होंने कहा कि झूठे वादे कर लोगों को धोखा दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री अप्रत्यक्ष रूप से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बचाव में नजर आए। भाजपा और मीडिया पर हमलावर अखिलेश ने कहा कि केजरीवाल जैसा संकट किसी के भी सामने आ सकता है। कल तक सपा सरकार की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े करने वालों की सरकार खुद कटघरे में हैं। सहारनपुर दंगा व जालौन गैंगरेप कांड इसका जीता जागता सबूत हैं।  प्रदेश सरकार ने भले ही समाजवादी योजनाओं को बंद कर दिया, जो भी योजना चलायी जाएं उसे गरीब तक पहुंचाया जाए।

पूर्व सांसद डिंपल यादव ने कहा है कि सपा सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए डायल 100 शुरू की थी जो आज भाजपा सरकार में मिसाल है। समाजवादी डायल 100 से लाखों लोगों को फायदा हुआ है। तत्काल घटना स्थल पर पहुंचने से लोगों की मदद हो रही है। जनपद जालौन में एक महिला के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया पुलिस ने अभी तक पर्दा फाश नहीं किया है। प्रदेश में कानून व्यवस्था पर सवाल उठाने वाले उनकी ही सरकार में महिलाओं की आबरु लुटने लगी। अखिलेश यादव से जब पूछा गया कि मुलायम सिंह आए दिन बयान देने से घमासान मच जाता है तो उन्होंने कहा कि वो मेरे पिता है पिता को पूरा अधिकार होता है डांटना और सही रास्ता बताना। चाचा शिवपाल सिंह नई पार्टी को लेकर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि उस बात को हम नहीं कहना चाहते हैं और बात को टाल दिया।