यूपी में भाजपा सरकार होने से आतंक व्याप्त : अखिलेश यादव

लखनऊ | पिछडो को एकजुट करने में सपा दमदारी से जुट गई है | अखिलेश यादव खुद बैठके ले रहे हैं और कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ा रहे हैं | गुरूवार को हुई बैठक में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा  कि देश इस समय बाहरी और भीतरी तमाम समस्याओं से जूझ रहा है। सीमाएं असुरक्षित है। आतंकवाद पर लगाम नहीं है। भाजपा इनसे आंखे मूंदे हुए है। वह जानबूझकर इनका समाधान नहीं चाहती है। केंद्र और राज्य की भाजपा सरकारों को विकास के लिए ठोस कदम उठाने की जगह देश को गुमराह करना और समाज को उलझाएं रखना आसान लगता है। भाजपा की सांप्रदायिक राजनीति लोकतंत्र को कमजोर करती है। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार के विकास से भाजपा चिढ़ी हुई है। समाजवादी सरकार में सभी का सम्मान सुरक्षित था। आज तो पुलिस और अधिकारियों को भी अपमान का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सामाजिक न्याय के लिए समाजवादी पार्टी काम करती रही है इस सम्बंध में जातीय जनगणना की हमने मांग की, क्योंकि इसके खुलासे से ही सामाजिक न्याय का रास्ता आसान होगा। इससे उनके विकास के लिए नीतियां बनाने में सफलता मिलेगी।
अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी अपने सिद्धांतों पर चलते हुए समाजवाद, लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता के लिए लगातार संघर्षशील है। अब हमारे सामने 2019 एवं 2022 में सफलता का लक्ष्य है। सदस्यता भर्ती का अभियान चलाया जा रहा है ताकि संगठन में मजबूती आए। समाजवादी पार्टी ने प्रजापति समाज में सामाजिक चेतना पैदा की और समाज की मुख्यधारा में शामिल करने के लिए पूरी ईमानदारी से कार्य किया है। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार के कारण राज्य में आतंक व्याप्त है। प्रत्येक नागरिक डरा और सहमा है। उत्तर प्रदेश में कानून का राज नही है। अराजकता का बोलबाला है। सत्तारूढ़ दल ही कानून व्यवस्था बिगाड़ना चाहता है। जिस दिन से भाजपा सरकार आई हैं राज्य में तनाव है।

प्रजापति समाज के वक्ताओं ने कहा कि वे हमारे समाज पर विश्वास करने के लिए  अखिलेश यादव के आभारी हैं। उनसे हम बहुत उम्मीदें रखते है। यह समाज उनको निराश नहीं करेगा। प्रजापति समाज मिट्टी से जुड़ा हुआ हैं शिल्पकारों और दस्तकारों को विशेष अवसर देने तथा आगे बढ़ाने का काम भी समाजवादी सरकार ने किया है। 17 जातियों को अनुसूचित जाति में समाजवादी सरकार ने ही शामिल कराने का प्रयास सराहनीय है। अतः समाजवादी पार्टी को हर स्तर पर मजबूत किया जाएगा।
वक्ताओं ने कहा कि भाजपा की सरकार प्रजापति समाज के प्रति उपेक्षा बरत रही हैं। समाज को घोर अपमान और उत्पीड़न सहना पड़ रहा है। इसके खिलाफ संघर्ष होगा। समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव के नेतृत्व में प्रजापति समाज की पूर्ण निष्ठा है। प्रजापति समाज पूरी तरह से समाजवादी सिद्धांतों के लिए संघर्ष करता रहेगा।  इस अवसर पर विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चैधरी, पूर्वमंत्री  राजेंद्र चौधरी एवं प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, अभिषेक मिश्रा एवं पंडित सिंह, तथा  एस.आर.एस. यादव और अरविंद कुमार सिंह एम.एल.सी. भी मौजूद थे।
आज की बैठक में  शिवचरण प्रजापति, रमेश प्रजापति, फिरेराम प्रजापति, सत्यवीर प्रजापति, राजकुमार प्रजापति, रामलखन प्रजापति, रामआसरे विश्वकर्मा, कृपारानी, कौशल्या प्रजापति,  रीता प्रजापति, जय प्रकाश प्रजापति, चिरैया प्रजापति, रजनीकांता प्रजापति, कमलाकांत प्रजापति, शिवनाथ सिंह, शिव, रामगोविंद प्रजापति एवं संजय प्रजापति आदि मौजूद रहे |