सुल्ली डील्स के बाद अब बुल्ली बाई, ऐप पर लग रही मुस्लिम महिलाओं की ऑनलाइन नीलामी

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर एक विशेष वर्ग की महिलाओं की फोटो डालकर उनकी नीलामी और आपत्तिजनक बातें लिखने वाले मामले में साउथ-ईस्ट दिल्ली के साइबर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। यह मुकदमा एक जर्नलिस्ट ने दर्ज कराया है। जर्नलिस्ट ने पुलिस को बताया कि वेबसाइट पर उनकी फोटो डालकर भद्दे कमेंट्स लिखे गए। इस मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। फिलहाल किसी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

‘सुल्ली डील्स’ के बाद अब ‘बुल्ली बाई’ ग्रुप में मुस्लिम लड़कियों और महिलाओं की फोटो लगाकर उनकी बोली लगाने का मामला सामने आया है। मुस्लिम महिलाओं की यह बोली एक ऐप पर लगाई जा रही है। एक महिला पत्रकार की शिकायत के बाद फिर से यह मामला गर्मा गया है। ‘सुल्ली डील्स’ के बाद अब गिटहब पर ‘बुल्ली बाई’ ग्रुप में मुस्लिम लड़कियों और महिलाओं की फोटो लगाकर बोली लगाने का मामला सामने आया है। मामले के तूल पकड़ने के बाद दिल्ली पुलिस ने अज्ञात के खिला केस दर्ज कर ली है।

नए साल की सुबह शनिवार को एक मुस्लिम महिला पत्रकार ने ट्वीट किया. जिसके बाद सोशल मीडिया में उनके ट्वीट को रिट्वीट के साथ वायरल कर दिया गया। वेबसाइट की महिला पत्रकार ने गिटहब के ग्रुप में चल रही अपनी फोटो को ट्वीट किया। उस फोटो में महिला पत्रकार को लेकर अभद्र बातें लिखी हुई थीं। महिला पत्रकार ने दावा किया कि गिटहब पर ‘सुल्ली डील्स’ की तरह बुल्ली बाई नाम से ग्रुप बनाया गया है। जिसमें उनकी तस्वीर और प्रोफाइल लगाकर बोली लगाई जा रही थी और अभद्र शब्दों का इस्तेमाल किया गया था।

महिला पत्रकार के ट्वीट को आगे बढ़ाते हुए शिव सेना की राज्य सभा प्रियंका चतुर्वेदी ने आईटी मिनिस्टर पर निशाना साधा। प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्विटर पर लिखा कि इस तरह की चीजों पर लगाम लगाकर कड़ा एक्शन लेना चाहिए। जहां महिलाओं का अपमान किया जा रहा है और एक विशेष वर्ग की महिलाओं को टारगेट किया जा रहा है। ट्विटर पर लगातार ट्रेंड करने के बाद दिल्ली पुलिस ने मामले पर जवाब देते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस ने इस प्रकरण का संज्ञान ले लिया है। संबंधित अधिकारी मामले की जांच करेंगे। सांसद असद्दुदीन ओवैसी ने भी ट्वीट करते हुए सरकार पर निशाना साधा और इस मामले की जांच की मांग की।

6 महीने पहले भी ‘सुल्ली डील्स’ चर्चा में आया था। तब दिल्ली पुलिस और नोएडा पुलिस ने केस दर्ज की थी। उस दौरान भी गिटहब पर सुइली डील्स नाम का चैट रूम बनाया गया था, जहां सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं और लड़कियों की फोटो डालकर उनकी बोली लगाई जा रही थी। दिल्ली और नोएडा में महिलाओं ने शिकायत दी थी जिस पर दोनों जगहों पर केस दर्ज किया।

दिल्ली पुलिस ने गिटहब से जानकारी मांगी थी लेकिन अभी तक गिटहब की तरफ से कोई जानकारी नहीं मिली है। जब जानकारी मिलेगी तभी ये पता चल पाएगा की सुल्ली डील्स किसने बनाया था और कहां से बनाया गया। बता दें कि इस्लाम में सुल्ली शब्द को काफी गंदा माना जाता है.लेकिन इस बार बुल्ली बाई शब्द का इस्तेमाल किया गया है। वहीं पुलिस ने अब आईपीएस की धारा 509 के तहत मुकदमा दर्ज किया है और मामले की जांच की जा रही है।