अलीगढ़ में 7 दिन बाद इंटरनेट सेवा बहाल, प्रशासन की सूझबूझ से सामान्य हुए हालात

अलीगढ़ । नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन में हुई हिंसा के बाद अब शहर के हालात सामान्य हो रहे हैं । प्रशासन की सूझबूझ से शहर में छिटपुट हिंसा को छोड़कर सब कुछ सामान्य रहा । नागरिकता संशोधन कानून के विरोध को देखते हुए अलीगढ़ में बंद की गई इंटरनेट सेवा 8 दिन बाद बहाल हुई। एएमयू में बवाल के बाद प्रशासन ने हालातों को देखते हुए सुरक्षा के लिहाज से अलीगढ़ में 15 दिसंबर की रात से इंटरनेट की सेवाओं को बंद दिया था।

अलीगढ़ के जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह और एसएसपी आकाश कुलहरि ने शहर के संभ्रांत नागरिको के साथ सामंजस्य और लोगों से मिलजुलकर शहर को शांत रखा । एक दो घटनाओं को छोड़ दे तो सबकुछ सामान्य रहा ।

बता दें कि 15 दिसंबर की रात नागरिकता कानून को लेकर एएमयू में चल रहे विरोध-प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया था। प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कैंपस से बाहर निकलने की कोशिश की थी। पुलिस के रोकने पर प्रदर्शनकारी छात्रों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पथराव में डीआईजी, एसपी सिटी, एसपी देहात सहित कई पुलिस कर्मी घायल हो गए थे।

लखनऊ में अभी दो दिन और बंद रहेगा इंटरनेट-
राजधानी लखनऊ के लोगों को अभी दो दिन और इंटरनेट के बिना रहना पड़ेगा। इंटरनेट 23 दिसंबर रात 12 बजे तक बंद रहेगा। एसएमएस सेवा भी बाधित रहेगी। अब 24 दिसंबर को लोगों को नेट की सेवा मुहैया होगी। सुरक्षा कारणों को देखते हुए प्रशासन ने ऐसा किया गया है।