अलीगढ़ : नामांकन खारिज होने पर RLD ने किया विरोध प्रदर्शन, डॉ मसूद बोले- ‘योगी सरकार के इशारे पर प्रशासन ने की चौ चरण सिंह के विचारों की हत्या’

अलीगढ | इगलास से रालोद प्रत्याशी सुमन दिवाकर का सोमवार को नामांकन फार्म के साथ रिटर्निंग अफसर द्वारा बी फार्म और जाति प्रमाण पत्र न लेने का मामला मंगलवार को भी कलेक्ट्रेट में जमकर गूंजा | रालोद नेताओं ने सत्ता के इशारे नामांकन खारिज करने का आरोप लगाया | एसीएम द्वितीय से नौंक झौंक भी हुई | पर्चा खारिज होने की सूचना मिलते ही रालोद नेताओं और कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट में जमकर नारेबाजी की और प्रदर्शन किया |

सोमवार देर शाम पर्यवेक्षक से शिकायत के बाद प्रशासन के बुलावे पर मंगलवार सुबह ही प्रत्याशी सुमन दिवाकर के साथ रालोद प्रदेश अध्यक्ष डॉ मसूद अहमद, जिलाध्यक्ष रामबहादुर चौधरी, पूर्व विधायक भगवती प्रसाद, रालोद नेता जियाउर्रहमान एडवोकेट, राजकुमार सांगवान, प्रदीप चौधरी के साथ सैंकड़ो समर्थक कलेक्ट्रेट पहुँच गए | रालोद के प्रदर्शन को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए थे | रालोद नेताओं के पहुँचते ही एसीएम द्वितीय ने भीड़ को बाहर जाने को कहा तो जमकर नौंक झौंक हुई | बाद में रिटर्निंग अफसर के कक्ष में प्रत्याशी सुमन दिवाकर के साथ पूर्व विधायक भगवती प्रसाद और राजकुमार सांगवान गए और अपना पक्ष रखा | लगभग दो घंटे तक चली वार्ता के बाद प्रशासन ने नामांकन खारिज होने की सुचना दी | रालोद प्रत्याशी का नामांकन खारिज होने की सूचना मिलते ही रालोद नेताओं और कार्यकर्ताओं में आक्रोश फ़ैल गया और प्रशसन पर भाजपा के इशारे पर काम करने और पर्चा ख़ारिज करने का आरोप लगया | कलेक्ट्रेट के गेट पर प्रत्याशी के साथ रालोद नेता जियाउर्रहमान के नेतृत्व में नेताओं ने जमकर नारेबाजी और प्रदर्शन किया | सड़क पर बैठकर प्रदर्शन किया |

रालोद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ मसूद अहमद ने कहा कि दादागिरी और तानाशाही के दम पर योगी सरकार के इशारे पर नामांकन खारिज किया है | उन्होंने कहा कि रालोद ही इगलास में भाजपा को हरा सकती थी लेकिन योगी सरकार के इशारे पर प्रशासन ने नामांकन खारिज कर दिया | उन्होंने कहा कि प्रत्याशी समय पर नामांकन कक्ष में दाखिल हुई लेकिन निर्वाचन अधिकारी ने तमाम अनुरोध के बाद भी बी फार्म और जाति प्रमाण पत्र नहीं लिया | उन्होंने कहा कि कलेक्ट्रेट और नामांकन कक्ष के सीसीटीवी फुटेज इसका प्रमाण हैं | डॉ मसूद अहमद ने कहा कि किसान-गरीब-मजदुर भाजपा सरकार से परेशान है, इगलास पर सीएम की सभा के बाद भी भाजपा हार रही थी इसलिए नामांकन ख़ारिज कराया गया | उन्होंने कहा कि चौ चरण सिंह की सोच और नीतियों की हत्या भाजपा के इशारे पर की गयी है | उन्होंने कहा कि रालोद सभी क़ानूनी पहलुओं पर विचार कर रहा है, दोषियों पर कार्यवाही कराकर रहेंगे |

नामांकन खारिज होने के बाद प्रत्याशी सुमन दिवाकर ने कहा कि मेरे साथ भाजपा और प्रशासन ने मिलकर अन्याय किया है, षड्यंत्र किया है | उन्होंने कहा कि निर्वाचन अधिकारी ने षड़यंत्र के तहत बी फार्म और जाति प्रमाणपत्र जमा नहीं किया | उन्होंने कहा कि मैंने आरओ से कई बार निवेदन किया था लेकिन वो नहीं माने | सुमन ने कहा कि योगी सरकार के इशारे पर मेरा नामांकन खारिज किया है | उन्होंने कहा कि भाजपा एक महिला से डर गयी और नामांकन खारिज करा दिया | सुमन ने कहा कि भाजपा ने किसानो, गरीबों, महिलाओं का अपमान किया है |

नामांकन खारिज होने पर विरोध प्रदर्शन करने वालों में प्रत्याशी सुमन दिवाकर के साथ रालोद प्रदेश अध्यक्ष डॉ मसूद अहमद, जिलाध्यक्ष रामबहादुर चौधरी, पूर्व विधायक भगवती प्रसाद, महानगर अध्यक्ष अनीस खान, रालोद नेता जियाउर्रहमान एडवोकेट, राजकुमार सांगवान, प्रदीप चौधरी, जावेद खान, चौ उर्मिला सिंह, फूल सिंह धनगर,राजीव बालियान, मुकेश धनगर, चौ रामवीर सिंह , अमित ठेनुआ, संजीव चौधरी, राजेश चौधरी, मास्टर केवल सिंह, चित्रेश, रणधीर प्रधान, कुलदीप चौधरी, हितेंद्र गुड्डू , डर इरफ़ान आदि मौजूद रहे |