वाल्मीकि जयंती पर हिमाचल के राज्यपाल से मिलीं टीना कर्मवीर, दलितों-पिछड़ों के उत्थान पर हुई चर्चा

शिमला । वाल्मीकि समाज के आराध्य आदि कवि महर्षि वाल्मीकि की जयंती ‘प्रकट दिवस’ के अवसर पर प्रदेश प्रवक्ता, सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ता, अंबेडकराइट एक्टिविस्ट टीना कर्मवीर ने हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल महोदय से मुलाकात की और वर्तमान सामाजिक परिपेक्ष एवं उसमें वाल्मीकि और अन्य पिछड़े समाजों का स्थान तथा उनकी उन्नति की राह में बाधाएं और उन पर हो रहे अत्याचार, कारण और निवारण पर राज्यपाल महोदय से विस्तृत चर्चा की।

राज्यपाल महोदय हिमाचल आने के पूर्व गोवा में मंत्री रहने के दौरान विभिन्न सामाजिक गतिविधियों में सक्रिय रहे हैं , अतः इन बातों में विशेष रूचि रखते हैं । साथ ही भागीदारी पूर्ण और समावेशी समाज बनाने के लिए गहरी प्रतिबद्धता रखते हैं ।उल्लेखनीय है कि टीना कर्मवीर जानी पहचानी‌ दलित, अंबेडकराइट एक्टिविस्ट हैं और पिछले 10 वर्षों से विभिन्न सामाजिक आंदोलनों में हिस्सा लेती रही हैं। जिनमें तेरह प्वाइंट रोस्टर, आरक्षण, एट्रोसिटीज एक्ट जैसे आंदोलन प्रमुख हैं। टीना कर्मवीर ने हरियाणा व हिमाचल के शिमला, दिल्ली आदि जगहों पर कई सामाजिक आंदोलन आयोजित किए हैं और उनका नेतृत्व किया है ।

टीना ने राज्यपाल से मिलकर उन्हें बाबा साहब की प्रसिद्ध पुस्तक इनहिलेशन ऑफ कास्ट (जाति का विनाश) भेंट की, जिसे राज्यपाल महोदय ने सहर्ष स्वीकार किया और विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। हाल में उन्होंने सक्रिय राजनीति में काम करने का निर्णय किया और कांग्रेस पार्टी जॉइन किया है। टीना को पार्टी ने हरियाणा युवा कांग्रेस का प्रदेश प्रवक्ता बनाया हुआ है।