‘ऐसा लगता है कि हमने राजनीति करके पाप कर दिया’ पढ़िए AAP सांसद संजय सिंह के BJP पर यह हमला-

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई कथित मारपीट के मामले ने अब राजनीतिक जंग का रूप ले लिया है। बुधवार को इस मामले के मुख्य आरोपी आप विधायक अमानतुल्ला खान ने सरेंडर कर दिया। इसके बाद आम आदमी पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र की बीजेपी सरकार पर हमला बोल दिया। राज्यसभा सांसद संजय सिंह दिल्ली सरकार को बर्खास्त करने की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्य सचिव बीजेपी के इशारे पर मारपीट की बात कह रहे हैं। आप नेता ने कहा कि खुद प्रदेश सरकार के मंत्री के साथ मारपीट की गई है और इसके वीडियो साक्ष्य भी मौजूद हैं। आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह के साथ दूसरे नेता भी प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मौजूद रहे। संजय सिंह पूरे वक्त बीजेपी पर हमलावर दिखे। आप सांसद ने कहा, ‘ऐसा लगता है कि हमने राजनीति करके पाप कर दिया है। हमारे 15-15 विधायकों को झूठे आरोपों में गिरफ्तार किया गया है। विधायक सोमनाथ भारती के कुत्ते को पकड़ने के लिए भी दिल्ली पुलिस के 40 जवान गए थे।’

हमारी सरकार के खिलाफ बीजेपी का षडयंत्र: संजय सिंह
संजय सिंह ने आरोप लगाया कि केंद्र की बीजेपी सरकार आप सरकार के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है। उन्होंने कहा, ‘हम स्कूल, अस्पताल के लिए जमीन मांगते हैं लेकिन वे नहीं देते।’ उन्होंने कहा, ‘मुख्य सचिव कहते हैं कि मारपीट हो गई। कोई प्रमाण नहीं, कोई साक्ष्य नहीं। मुख्य सचिव जो कह देते हैं वह गीता का श्लोक हो जाता है। हमारे मंत्री के साथ मारपीट हुई और इसका वीडियो साक्ष्य भी मौजूद है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती।

‘मुख्य सचिव के साथ राशन के मुद्दे पर हुई थी बहस, मारपीट नहीं’ –
आप नेता संजय सिंह ने मुख्य सचिव के साथ मारपीट की बात को सिरे से नाकार दिया। संजय सिंह ने कहा कि ‘मुख्य सचिव से मीटिंग राशन के मामले को लेकर हुई। विधायक कह रहे थे कि हमारे क्षेत्र में राशन नहीं बंट रहा है, जनता हमसे पूछ रही है। बातचीत बहस के रूप में बदल गई लेकिन मारपीट हो गई यह गलत है।’ संजय सिंह ने झारखंड की उस घटना का उल्लेख किया जिसमें आधार से लिंक होने की वजह से कथित तौर पर राशन नहीं मिला और एक बच्ची की मौत हो गई। संजय सिंह ने कहा कि आज अगर दिल्ली में भूख से किसी की मौत होगी तो कोई मुख्य सचिव या एलजी से सवाल नहीं पूछेगा, सारे सवाल आप सरकार से होंगे। गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने तय किया है कि राशन पाने के लिए अब आधार की अनिवार्यता नहीं रहेगी। संजय सिंह का कहना है कि इसी मुद्दे पर गतिरोध को दूर करने के लिए मुख्य सचिव को मीटिंग के लिए बुलाया गया था।

‘हमारे मंत्री पर हमला हुआ पर गृहमंत्री को चिंता नहीं’
संजय सिंह ने कहा कि ‘मुख्य सचिव मारपीट का आरोप लगाते हैं। एक सामान्य आदमी भी ऐसी स्थिति में 100 नंबर पर कॉल कर पुलिस को बुलाता है। मुख्य सचिव रात को कुछ नहीं करते हैं। फिर षड्यंत्र के तहत दिल्ली सचिवालय में लोगों को इकट्ठा किया जाता है। मंत्री के साथ मारपीट की जाती है। स्टाफ को पीटा जाता है। आशीष खेतान पर भी हमला किया गया। क्या इस गुनाह पर आप पर्दा डालना चाहते हैं।’ संजय सिंह ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह को भी आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि, ‘मंत्री को मारने का विडियो साक्ष्य मौजूद है। गृहमंत्री ने चिंता जताई कि मुख्य सचिव के साथ ऐसा हो गया लेकिन उन्हें इस बात की चिंता नहीं कि दिल्ली सचिवालय के अंदर एक मंत्री को मारा जा रहा है। क्या दिल्ली के अंदर अराजकता की स्थिति पैदा करना चाहती है केंद्र सरकार।’
-एजेंसी