महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 26 मामले, एक की मौत, 31 मार्च तक बंद हुए स्कूल-कॉलेज

मुंबई | मुम्बई में शनिवार (14 मार्च) को कोरोना वायरस के चार नए मरीजों की पुष्टि हुई। यह जानकारी बृहन्मुम्बई महानगरपालिका (बीएमसी) ने दी। इससे महाराष्ट्र में पुष्ट मामलों की संख्या बढ़कर 26 और मुम्बई में आठ हो गई। मुम्बई में जिन नए मरीजों की पुष्टि हुई है उनमें से एक शहर का निवासी है, जबकि अन्य कामोठे, वाशी और कल्याण के रहने वाले हैं। बीएमसी उप निदेशक (स्वास्थ्य) दक्षा शाह ने कहा कि सभी को यहां कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनकी स्थिति स्थिर है।

इससे पहले दिन में महाराष्ट्र के यवतमाल शहर में दो व्यक्तियों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई, ये हाल में दुबई से लौटे थे। अभी तक पूरे राज्य में, पुणे में 10 मामलों, मुम्बई में आठ, नागपुर में चार, यवतमाल में दो, ठाणे और अहमदनगर में एक एक मामले की पुष्टि हुई है। इस बीच नासिक से मिली खबर के अनुसार दो व्यक्तियों को नासिक सिविल अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित होने के संदेह में भर्ती किया गया।

अधिकारियों ने बताया कि इनमें से एक नासिक का रहने वाला 41 वर्षीय व्यक्ति है जो गत आठ मार्च को बांग्लादेश गया था और 13 मार्च को भारत लौटा था। वहीं दूसरा 33 वर्षीय व्यक्ति है जिसने नौ जनवरी से 13 मार्च के बीच दक्षिण अफ्रीका की यात्रा की थी। अधिकारी ने कहा, ”इसके साथ ही संदिग्ध रूप से संक्रमित होने के लिए भर्ती व्यक्तियों की संख्या बढ़कर चार हो गई है। छह व्यक्तियों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आयी थी और उन्हें छुट्टी दे दी गई है।”

संदिग्ध मरीज की महाराष्ट्र के बुलढाणा में मौत-
सऊदी अरब से हाल में लौटे 71 वर्षीय कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज की महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में शनिवार (14 मार्च) दोपहर मौत हो गई। अस्पताल के अधिकारी ने बताया कि मृतक मधुमेह और उच्च रक्तचाप का मरीज था। सिविल सर्जन प्रेमचंद पंडित ने ”पीटीआई-भाषा” को बताया कि कुछ दिन पहले उच्च रक्तचाप की शिकायत होने पर मरीज को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था और शनिवार सुबह कोरोना वायरस से संक्रमण के लक्षण सामने आने पर बुलढाणा के जनरल अस्पताल में स्थानांतरित किया गया था।

स्कूल और कॉलेज 31 मार्च तक बंद-
महाराष्ट्र सरकार ने शनिवार को एक परिपत्र जारी करके कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए ऐहतियात के तौर पर राज्य के शहरी क्षेत्रों में सभी स्कूल और कॉलेज को 31 मार्च तक बंद करने का आदेश दिया। परिपत्र में कहा गया कि नगर निगमों, नगरपालिकाओं और नगर पंचायत के क्षेत्र में आने वाले सभी स्कूल और कॉलेज इस महीने के अंत तक बंद रहेंगे। परिपत्र में कहा गया है कि कक्षा 10वीं और 12वीं कक्षा के साथ ही विश्वविद्यालय की परीक्षाएं निर्धारित समय के अनुसार होंगी। यह घोषणा राज्य विधानसभा में भी की गई। एक अन्य परिपत्र में सरकार ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अगले आदेश तक सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक, धार्मिक और खेल कार्यक्रमों के लिए अनुमति नहीं दें।