UP में होगी 22 हजार महिला होमगार्ड्स की भर्ती

यूपी के होमगार्डस मंत्री चेतन चौहान ने कहा कि इस समय प्रदेश में 1.18 लाख होमगार्ड कार्यरत हैं। इनमें महिला होमगार्डस की संख्या करीब साढ़े चार हजार है। इसमें करीब 20 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की जाएगी। इस लिहाज से उत्तर प्रदेश में शीघ्र ही करीब 22 हजार महिला होमगार्डों की भर्ती की जाएगी। महिला होमगार्ड की भर्ती होने से महिला उत्पीड़न पर भी रोक लगेगी।

वेतन घोटाले के सवाल पर उन्होंने कहाकि प्रदेश में किसी भी होमगार्डस को नौकरी से नहीं हटाया गया। सभी होमगार्डस ड्यूटी कर रहे हैं। अब उनका वेतन मास्टररोल प्रमाणित होने के बाद सीधे बैंक एकाउंट में भेजा जा रहा है, इसलिए कहीं कोई गड़बड़ी होने का सवाल ही नहीं उठता। रहा सवाल होमगार्डों की ड्यूटी में धांधली या फर्जीवाड़ा की, अब वह पुरानी बात हो गई। इस मामले में कई सस्पेंड हो चुके हैं या कई दोषी अफसर जेल जा चुके हैं।

प्रदेश के होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान गुरुवार शाम एसपीआरसी कालेज में बॉक्सिंग प्रतियोगिता के समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने के पश्चात कालेज परिसर में ही पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अब होमगार्ड से ड्यूटी लगाने के लिए पैसे लेने या फिर ड्यूटी में फर्जीवाड़ा की कोई शिकायत नहीं है बल्कि मास्टरोल का थाना और सक्षम अधिकारी से प्रमाणित होने के बाद ही होमगार्ड के खाते में वेतन भेजा जा रहा है। होमगार्ड के मृतक आश्रित को सरकार की तरफ से करीब 5 लाख रुपये की धनराशि दी जाती है।

उन्होंने यह भी कहा कि पूरे प्रदेश में द्वितीय विश्वयुद्ध के पूर्व सैनिक या फिर उनके मृतक आश्रितों की संख्या करीब 100 से अधिक हैं, अब इन सबको को घर बैठे पेंशन देने की व्यवस्था की गई है। पूर्व सैनिक कल्याण अफसर सीधे उनके घरों पर जाकर पेंशन की रकम देंगे जिससे उन्हें बैंक या फिर कार्यालयों में चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने कहाकि युवा कल्याण विभाग के सभी रिक्त पद भी भरे जाएंगे। उन्होंने प्रदेश सरकार की तरफ से राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों के लिए क्रमश: 5-10 हजार रुपये प्रतिमाह आर्थिक सहायता के रूप में देने के प्रस्ताव पर चर्चा जारी होने की भी बात कही।