2025 में भारत का हिस्सा होगा पाक, कराची में बस सकेंगे लोग : इंद्रेश RSS

मुंबई। आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने कहा कि वर्ष 2025 के बाद भारत के लोग कराची, लाहौर और रावलपिंडी समेत पड़ोसी देश पाकिस्तान के अन्य शहरों में बस सकेंगे और कारोबार शुरू कर सकेंगे। दादर में शनिवार को एक कार्यक्रम में इतिहास का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान समेत अब जो क्षेत्र है उसे 1045 ईसवी तक ‘‘हिंदुस्तान’’ कहा जाता था। उन्होंने कहा कि भारतीय यूनियन ऑफ अखंड भारत का निर्माण भी संभव है।

कुमार ने दावा किया, ‘लोग कहते हैं कि 1947 से पहले कोई पाकिस्तान नहीं था। 1045 ईसवी तक इलाके को हिंदुस्तान कहा जाता था। यह साल 2025 के बाद फिर से हिंदुस्तान बनेगा। आप 2025 के बाद कराची, लाहौर, रावलपिंडी या सियालकोट में बसने या कारोबार शुरू करने पर विचार कर सकते हैं।’ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ‘अखंड भारत’ या अविभाजित भारत सिद्धांत पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली ने यह सुनिश्चित किया कि बांग्लादेश में ऐसी सरकार हो जो हमारे पक्ष में हो।

जम्मू कश्मीर पर केंद्र के ‘कड़े रुख’ की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि यह ‘राजनीतिक इच्छाशक्ति में आए बदलाव’ का नतीजा है। कुमार ने कहा कि पहली बार भारत में किसी सरकार ने जम्मू कश्मीर में इतना कड़ा रुख अपनाया। सरकार की इच्छाशक्ति के कारण सेना के लिए यह संभव हो पाया। अब राजनीतिक इच्छाशक्ति में बदलाव आ गया है। उन्होंने कहा कि हमारे लाहौर में या पाकिस्तान में किसी भी अन्य शहर में बसने और मानसरोवर जाने के लिए चीन से अनुमति मांगने का सपना नहीं है।

आरएसएस नेता ने कहा, ‘इसी तरह हमने ढाका में अपने हित वाली सरकार सुनिश्चित की। यूरोपीय संघ की तर्ज पर भारतीय यूनियन ऑफ अखंड भारत अस्तित्व में आ सकता है।’ उन्होंने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि अगर एक देश, एक ध्वज, एक संविधान भारत में सभी राज्यों पर लागू होता है तो जम्मू कश्मीर पर लागू क्यों नहीं होता? कुमार ने कहा, ‘अगर मुंबई में सभी कश्मीरियों का स्वागत है तो कश्मीर में सभी मुंबईवासियों का स्वागत क्यों नहीं है?’ कुमार आरएसएस समर्थित मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संरक्षक हैं।