हाथरस के सासनी की मस्जिद से पकड़े गए 15 जमाती, दिल्ली मरकज के जलसे में शामिल होने की सूचना से हड़कंप

हाथरस | जिले के सासनी ग्राम पंचायत बिजाहरी के मजरा नया बिजलीघर क्षेत्र की एक मस्जिद से पुलिस ने मंगलवार दोपहर 15 अंतर्राज्यीय जमातियों को हिरासत में लिया है। पुलिस ने इन सभी जमातियों को कस्बे के केएल जैन इंटर कॉलेज में होम क्वारंटीन कराया है। ये जमाती पश्चिम बंगाल और झारखंड के विभिन्न जिलों के बताए जा रहे हैं। चर्चा है कि ये जमाती चार मार्च को दिल्ली में हुए उस चर्चित जलसे में शामिल हुए थे, जिसमें 24 कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद देश और कई राज्यों की सरकारें सकते में हैं। हालांकि ये सभी लोग पांच मार्च को जलसे से लौट आए थे और 12 मार्च तक हाथरस की एक मस्जिद में रुके और उसके बाद से सासनी की इस मस्जिद में शरण लिए हुए थे।

क्षेत्रीय लेखपाल रामजीलाल का कहना है कि अभी यह पुष्टि नहीं हो पाई है कि यह सभी इस जलसे में शामिल हुए थे या नहीं, लेकिन इनके बारे में ये सूचना दी गई थी कि यह सभी वहां से शामिल होकर लौटे हैं। फिलहाल छानबीन चल रही है। इसके बाद ही इस बारे में पुख्ता तौर पर कुछ कहा जा सकेगा।

दरअसल, दिल्ली में धारा 144 लागू होने के बावजूद हुए धार्मिक जलसे में दो हजार लोगों की भीड़ जमा हुई थी, जिसका खुलासा होने से दिल्ली ही नहीं, बल्कि देश और कई राज्यों की सरकारें हिल गईं हैं। इस जलसे में शामिल 24 लोगों के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद इन्हें लेकर सरकारें और ज्यादा संवेदनशील हैं।

यही वजह है कि देश भर में पुलिस प्रशासन मस्जिद और दरगाहों में इन जमातियों की तलाश में जुटा है। मंगलवार दोपहर को पुलिस को बिजलीघर क्षेत्र की मस्जिद में जमाती मिल गए। इनमें पश्चिमी बंगाल व झारखंड के अलावा एक स्थानीय जमाती भी है। इन सभी को पुलिस ने होम क्वारंटीन किया है। इन जमातियों के पकड़े जाने से पुलिस-प्रशासन में खलबली मची हुई है।

सासनी कोतवाली निरीक्षक अश्विनी कौशिक ने बताया कि ये सभी जमाती पांच मार्च को दिल्ली में हुए जलसे में शामिल होकर लौटे हैं। 12 मार्च तक यह लोग हाथरस की एक मस्जिद में रहे और उसके बाद सासनी की मस्जिद में इन्होंने शरण ली। इन सभी को सुरक्षित तरीके से केएल जैन इंटर कॉलेज में क्वारंटीन किया गया है। इनमें से किसी में भी बीमारी के कोई लक्षण नहीं दिखे हैं, फिर भी एहतियातन इन्हें यहां रखा गया है।