UP Investors Summit में बोले PM मोदी, ‘न्यू UP की भव्य और दिव्य इमारत निर्माण के लिए बुनियाद तैयार’

लखनऊ। पीएम मोदी ने UP Investors Summit का उद्घाटन करने के बाद समिट को संबोधित करते हुए कहा कि मैं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके मंत्रिमंडल के उनके सहयोगियों, ब्यूरोक्रेसी, पुलिस, और उत्तर प्रदेश की जनता को बधाई देता हूं कि वो अपने उत्तर प्रदेश को इतने कम समय में समृद्धि और विकास के रास्ते पर ले आई है। उन्‍होंने कहा कि अब यूपी विकास के रास्‍ते पर है। उन्‍होंने जहां राज्य में फूड प्रोसेसिंग उद्योग में निवेश का मंत्र दिया वहीं उन्होंने डिफेंस कॉरिडोर के विस्तार की भी घोषणा की।

लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित UP Investors Summit में पीएम मोदी ने कहा कि जब परिवर्तन होता है, तो सामने दिखता है. उत्तर प्रदेश में इतने व्यापक स्तर पर इन्वेस्टर समिट होना, इन्वेस्टर समिट में इतने निवेशकों और उद्यमियों का एकजुट होना, अपने आप में एक बड़ा परिवर्तन है. उन्‍होंने कहा कि मैं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके मंत्रिमंडल के उनके सहयोगियों, ब्यूरोक्रेसी, पुलिस, और उत्तर प्रदेश की जनता को बधाई देता हूं कि वो अपने उत्तर प्रदेश को इतने कम समय में समृद्धि और विकास के रास्ते पर ले आई है. उन्‍होंने कहा कि अब यूपी विकास के रास्‍ते पर है.

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि यूपी में बुनियाद तैयार हो चुकी है जिस पर न्यू उत्तर प्रदेश की भव्य और दिव्य इमारत का निर्माण होगा। पहले की स्थितियों के बारे में यूपी के लोगों से बेहतर कौन जानता है। यूपी के विकास का जो माहौल आज मिला है। इसकी कभी उम्मीद नहीं थी लेकिन योगी सरकार ने जो पॉजीटिव माहौल दिया है पुरानी कहावत है कि कोस कोस में बदले पानी सोलह कोस में वाणी। पीएम ने कहा कि मलिहाबाद के आम भदोही के कालीन, बनारस की जरदोजी, फिरोजाबाद का कांच आगरा का पेठा कन्नौज का इत्र आयोघ्या में राम की लीला तो मथुरा की कृष्ण लीला है। यहां पुराने समय से लेकर आज यूपी अनाज गेहूं गन्ने दूध आलू के उत्पादन में नंबर एक पर है। यूपी देश में यहां पर विपरीत परिस्थितियों के बाद भी यूपी के कोटि भाई बहनों ने काम किया है। सवाल यह है कि आगे क्या है। क्या यूपी अपने सामथ्र्य से पूरा न्याय कर रहा है। आज हर क्षेत्र में यूपी के वैल्यू एडीशन की जरूरत है। यहां पर योगी के सरकार की नीतियां और उन पर काम किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने का लक्ष्य है और अगर राज्य में छोटे फूड प्रोसेसिंग उद्योग लगें तो इससे किसानों की आय बढ़ेगी साथ ही रोजगार के अवसर पैदा होंगे। लघु माध्यम उद्योगों को भी रोजगार की सबसे ज्याद संभावना है। 50 लाख लघु उधोग है। जिसमें लाखों लोग काम कर रहे हैं। UP Investors Summit मेंं प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कई ऐसे सेक्टर है जो इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं। उनकी आय बढ़ानी है।